पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महाअभियान 21 जून से:शहर के 10 और गांवों के 25 केंद्रों पर होगा वैक्सीनेशन

गंजबासौदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तैयारियां शुरू, 30 जून तक चलने वाले टीकाकरण अभियान में 25 पंचायतों का सबसे पहले चयन किया

विकासखंड में वैक्सीनेशन बड़े पैमाने पर प्रारंभ किया जा रहा है। शहर के 10 केंद्रों और 101 ग्राम पंचायतों में बूथ लेवल पर ग्रामीणों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। यह महा अभियान 21 से 30 जून तक चलेगा। इसके लिए सबसे पहले 25 ग्राम पंचायतों का चयन किया गया है।

इसके बाद यह क्रम लगातार जारी रहेगा। कोरोना संक्रमण के भविष्य के खतरे को देखते हुए यह अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। सबसे ज्यादा खतरा ग्रामीण क्षेत्रों से है। 70 फीसदी आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में ही रहती है। यदि ग्रामीण क्षेत्र सुरक्षित हो गए तो संक्रमण का खतरा ज्यादा नहीं रहेगा।

इसके लिए बीएमओ और जनपद लेवल पर अलग-अलग बैठकें आयोजित की गई। इससे इस महा अभियान को प्रारंभ किया जा सके।

ग्रामीण क्षेत्र में वैक्सीनेशन की तैयारियां शुरू
^विकासखंड में 10 दिन तक वैक्सीनेशन के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में महा अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। इसकी पूरी तैयारी हो चुकी है। प्रथम दिन शहर के 10 व 25 ग्राम पंचायतों के केंद्रों पर वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके बाद यह क्रम दूसरी पंचायतों में जारी रहेगा।
डॉ. रविंद्र चिढ़ार, बीएमओ गंजबासौदा।

बैठक में सौंपी गई जवाबदारी
किल कोरोना अभियान के प्रभारी अनूप सिंह रघुवंशी ने बताया कि इस वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए आयोजित बैठक में रूपरेखा तैयार की गई। जिन लोगों को दायित्व सौंपा गया है उनको घर घर संपर्क करने और लोगों के मनसे डर खत्म करने के लिए प्रेरित करने को कहा गया है।

साथ ही गांव के प्रभावी लोगों को भी सक्रिय किया जा रहा है। जिन लोगों की बात गांव में ग्रामीण मानते हैं। इससे ज्यादा से ज्यादा लोग केंद्रों पर आएं और वैक्सीनेशन कराएं। प्रयास यह किया जा रहा है कि सभी गांवों में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन हो सके। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से आशा कार्यकर्ताओं, महिला बाल विकास विभाग के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी सक्रिय किया जा रहा है।

भ्रम तोड़ने के लिए जवाबदारी तय की
जनपद पंचायत सीईओ अरविंद शर्मा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीन को लेकर जो भ्रम डर फैलाया गया है उसे खत्म करने के लिए विकासखंड के 1225 कर्मचारियों को दायित्व सौंपा गया है। इनमें सरपंच, पंच, सचिव, रोजगार सहायक के साथ ही शिक्षक बीएलओ आदि को भी जन जागरण करने का दायित्व दिया गया है जो गांव में जाकर वैक्सीन को लेकर भ्रम फैला हुआ है उसे खत्म करें।

21 जून को 25 गांवों में होगा वैक्सीनेशन
ग्रामीण क्षेत्र के महा वैक्सीनेशन अभियान का प्रारंभ 21 जून से किया जाएगा। इसके लिए 18 ग्राम पंचायतों को चुना गया है जहां वैक्सीनेशन होगा। उनमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र त्योंदा, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उदयपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कुल्हार के साथ ही उप स्वास्थ्य केंद्र गंज, कंजना, देरखी, पवई, सलोई, आटा सेमर, गुलाबरी, कस्बा बागरोद, घटेरा, मसूदपुर, बिलाढाना, भिदवासन, नगमा पिपरिया, लाल पठार, ककरावदा, हमीदपुर, भाटनी, अंबा नगर और किरवाया में होगा।

इसी प्रकार ग्राम पंचायत भिलायां में माध्यमिक शाला ग्राम पंचायत सिरनोटा में हायर सेकंडरी स्कूल ऊहर को वैक्सीनेशन सेंटर बनाया गया है। इसी प्रकार नगर के 10 केंद्रों पर वैक्सीनेशन होगा जहां हाल ही में कोरोना उपचार के लिए वार्डों में स्वास्थ्य केंद्र बनाए गए थे। इन सभी सेंटरों पर 6700 लोगों को पहला डोज लगाया जाएगा।

अभियान के लिए 198 बूथ बनाए गए हैं
10 दिन तक चलने वाले ग्रामीण क्षेत्र के इस वैक्सीनेशन अभियान के लिए 198 बूथ बनाए गए हैं। जबकि शहरी क्षेत्र में 10 केंद्र स्थापित किए गए हैं। प्रथम दिन से प्रारंभ यह अभियान लगातार 30 जून तक जारी रहेगा। इस अभियान के दौरान सभी 101 ग्राम पंचायतों के सभी गांव में वैक्सीनेशन होना है।

ऐसा नहीं यह अभियान सिर्फ 10 दिन तक ही चलेगा लेकिन इसके बाद जैसे-जैसे वैक्सीन के डोज उपलब्ध होते रहेंगे सभी ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीणों को लगातार वैक्सीनेशन किया जाएगा। इससे सभी गांव में अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन किया जा सके।

खबरें और भी हैं...