पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मास्क न पहनने की सजा:अस्थायी जेल में न महिलाकर्मी न अलग व्यवस्था, फिर भी 10 महिलाओं को वहां भेज दिया

गुना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एसडीएम को सूचना मिली तो बाहर कराया, दूसरे दिन 64 लोग बंद कराए

मास्क न पहनने वालों को अस्थाई जेल भेजने के आदेश तो जारी हो गए लेकिन इसमें यह स्पष्ट नहीं किया गया कि महिलाओं पर भी यह कार्रवाई होगी या नहीं? और यह भी कि अगर उन्हें पकड़ा गया तो प्रोटोकॉल व गाइड लाइन क्या होगी? उन्हें पुरुषों के साथ ही रखा जाएगा या अन्य जगह इंतजाम होगा या नहीं? शनिवार को इन सवालों से उपजी गफलत भी सामने आ भी गई। पुलिस ने अतिउत्साह में आकर लगभग 10 महिलाओं को अंबेडकर भवन स्थित जेल में भेज दिया। इससे जेल की व्यवस्था संभाल रहा अमला सकते में आ गया। उन्हें समझ नहीं आया कि वे महिलाओं को कहां रखें। उनकी निगरानी कौन रखेगा? हैरानी की बात यह है कि अस्थाई जेल में कोई महिलाकर्मी भी तैनात नहीं की गई है। न ही महिलाओं को रखने के लिए अलग से कोई व्यवस्था है। इन जरूरी इंतजामों के न होने के बावजूद महिलाओं को पकड़कर जेल भेज दिया गया।

64 लोग बंद : शपथ पत्र भरवाकर छोड़ा
शनिवार को मास्क नही लगाने वाले 64 लोगों को अंबेडकर भवन स्थित अस्थायी जेल में रखा गया। इस दौरान बंद किये गये लोगों को सशुल्क दो मास्क वितरित किए गए तथा आगे से अनिवार्यत: मास्क लगाने हेतु शपथ पत्र भी भरवाए गए।

जिले में 240 का बनाए चालान
जेल भेजने के अलावा चालान बनाने का काम भी जारी है। एसडीएम ने बताया कि शनिवार को 84 व्‍यक्तियों, नगरीय क्षेत्र राघौगढ़ अंतर्गत 57 लोगों, नगरीय क्षेत्र आरोन अंतर्गत 40 लोग, नगरीय क्षेत्र चांचौड़ा अंतर्गत 30 लोग एवं नगरीय क्षेत्र कुंभराज अंतर्गत 30 लोग के विरूद्ध 100 रुपए प्रति मास्क की चालानी कार्रवाई की गई। इस प्रकार कुल जिले में 240 लोगों पर मास्क न लगाने के कारण चालानी कार्रवाई की गई।

दूल्हे के सैलूनों को खोलने की छूट नहीं
रविवार को सीजन का दूसरा बड़ा विवाह मुहूर्त है। इसलिए लोग उम्मीद लगाए बैठे थे कि बाजार बंदी से कम से कम इस एक रविवार को राहत मिलेगी। पर ऐसा नहीं हुआ। एसडीएम ने बताया कि निर्णय को जारी रखा जाएगा। फिर भी लोगों की डिमांड के मुताबिक हमने ब्यूटी पार्लर को छूट दी है। हालांकि इस दौरान वहां कोविड गाइड लाइन का पालन होगा। संचालकों को मास्क, सैनिटाइजर, धुले हुए वस्त्र आदि का उपयोग करते हुए पीपीई किट पहनकर सेवाएं प्रदान करना होगा। हां दूल्हों को निराश होना पड़ेगा, क्योंकि सैलून खोलने की इजाजत नहीं है।

एक कोने में बैठाया गया
महिलाओं के आने से तमाम कर्मचारी सकते में आ गए। उन्हें चिंता थी कि उनकी जिम्मेदारी किसको दी जाए। मामला बेहद संवेदनशील था। दरअसल अस्थाई जेल की जिम्मेदारी संभाल रहे ऊमरी सर्किल के तहसीलदार उस समय वहां थे नहीं। महिलाओं के आते ही कर्मचारियों ने बाहर एक कोने में बिठवा दिया। वहीं सारे पुरुषों को अंबेडकर भवन के अंदर जाने को कहा। इसके बाद उन्होंने तुरंत ही तहसीलदार को फोन लगाया। एसडीएम अंकिता जैन तक भी सूचना पहुंच गई। आखिरकार तहसीलदार आए और उन्होंने तुरंत ही महिलाओं को रिहा करने के निर्देश दिए।
महिलाओं को कार्रवाई से अलग रखा तो होगा भेदभाव
उधर कानून के जानकार मानते हैं कि अगर महिलाओं को इस तरह की कार्रवाई से अलग रखा गया तो भेदभाव के आरोप लग सकते हैं। शनिवार को महिलाओं को छोड़ दिया गया, लेकिन पुरुषों को तय अवधि तक ही रखा गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser