पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना का सितम:सितंबर के 15 दिन में 184 कोरोना पॉजिटिव केस मिले, इसी माह 500 का आंकड़ा भी पार

गुना8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • त्यौहार सीजन और चुनावी हलचल से पहले चिंता बढ़ाने वाले आंकड़े

आने वाले दो माह में सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक गतिविधियां बहुत ज्यादा बढ़ने वाली है लेकिन कोरोना को लेकर आंकड़े लगातार चिंताजनक हो रहे हैं। अकेले सितंबर माह के दौरान ही 184 पॉजिटिव केस दर्ज हो चुके हैं। मरीजों की यह संख्या अप्रैल से जुलाई तक 4 माह के दौरान कुल संक्रमितों से लगभग दो गुनी है। इसी माह के दौरान 400 और 500 के आंकड़े पार हो गए। आने वाले दो माह के दौरान नवरात्र, दशहरा, दीपावली जैसे उत्सव हैं और सरकार ने इस दौरान सामाजिक कार्यक्रमों की भी छूट दे दी है। साथ ही चुनाव भी होने वाले हैं, जिसमें बड़ी सभाओं पर कोई रोक नहीं रहेगी। यानि हालात बहुत तेजी से बिगड़ सकते हैं। चिंता की बात यह है कि जल्द ही संक्रमण केे सही आंकड़े भी मिलना बंद हो सकते हैं। क्योंकि सरकार ने कोरोना संक्रमितों के संपर्क सूत्रों की तलाश का काम बंद करने का फैसला किया है। अब यह काम भी जनता के भरोसे छोड़ दिया जाएगा।

1. संक्रमण की दर
अप्रैल से जून तक महज 15 मामले सामने आए थे। यह सभी वे लोग थे जो बाहर से आए थे। तब तक गुना में रहने वाले किसी भी व्यक्ति के संक्रमित होने की सूचना नहीं थी। तब तक यह माना जा रहा था कि कम से गुना में हमने कोरोना को नियंत्रित कर लिया है।
2. पाबंदियां कम होते ही केस बढ़े
जुलाई और अगस्त माह के दौरान नियंत्रित तरीके से अनलॉक किया गया। इन माह में रात का कर्फ्यू जारी रखा गया था। बाजार भी 7 से 9 बजे के बीच बंद हो जाते थे। सामाजिक आयोजनों पर पूरी तरह से रोक थी। फिर भी इन दो माह में केस बढ़कर 362 तक पहुंच गए। जुलाई में 62 और अगस्त में 250 केस बढ़े।

3. अब कोई पाबंदी नहीं, सारी जिम्मेदारी आपकी
सितंबर से लगभग सभी पाबंदियां खत्म हो गई हैं। कर्फ्यू और साप्ताहिक टोटल लॉकडाउन नहीं है। 21 से स्कूलों और थिएटरों को भी खोला जा रहा है। इसका नतीजा यह हुआ है कि 15 दिन में ही 184 केस सामने आ गए। इसके साथ ही अब सरकार ने सारी जिम्मेदारी लोगों पर डाल दी है। कोई शख्स संक्रमित होता है तो उससे संपर्क में आने वालों की अब तलाश नहीं होगी। लोगों को खुद ही फीवर क्लीनिक पहुंचना होगा।

बगैर लक्षण वाले मरीजों की तलाश और मुश्किल

कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए लोगों की तलाश बंद करने के भयंकर नतीजे सामने आ सकते हैं। इससे उन लोगों की पहचान नहीं हो पाएगी जिनमें कोई लक्षण नहीं आते लेकिन जो संक्रमण फैलाने में सक्षम रहते हैं। कुल मरीजों में ऐसे लोगों की संख्या 80 फीसदी के आसपास होती है। पहले संपर्कों की तलाश से ऐसे लोगों को उनके घरों में क्वारेंटाइन कर दिया जाता था।

70 रिपोर्ट में 10 नए मरीज संक्रमित, एक की मौत
एक और बैंककर्मी पॉजिटिव : सोमवार को रिकॉर्ड 33 मामलों के बाद मंगलवार को 10 पॉजिटिव केस मिले। यह संयोग ही है कि संक्रमितों की तलाश बंद करने की नीति लागू होने वाले दिन अचानक संख्या में गिरावट आई। यही नहीं टेस्ट रिपोर्ट भी सिर्फ 70 ही आईं। ताजा रिपोर्ट में 10वें संक्रमित की मृत्यु इंंदौर में बताई गई है। हालांकि सूत्र बताते हैं कि उक्त शख्स की मृत्यु लगभग एक हफ्ते पहले ही हो चुकी थी। हैरानी की बात यह है कि पोर्टल पर इसकी कोई सूचना नहीं आई।
होटल संचालक पॉजिटिव : वहीं संक्रमितों में एक होटल संचालक भी शामिल हैं जिनका रेस्टोरेंट शहर के सबसे व्यस्त इलाके में चलता है। इसके अलावा यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में भी एक केस आया है। इससे पहले एसबीआई में संक्रमण फैलने से उसकी मेन ब्रांच को तीन दिन के लिए बंद किया गया। मंगलवार को सभी मामले शहर के ही रहे। इनमें भार्गव कालोनी, दुबे कालोनी, विवेक कालोनी, शांति नगर, हाट रोड, सदर बाजार, सोनी कालोनी और मर्दन सिंह बाड़ी शामिल हैं।​​​​​​​

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें