• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • 200 People Trapped In Sodi Village Of Bamori Area, MNDRF Built Base Camp In Chhabra; Sindh Flows 5 Feet Above 55 Feet High Bridge At Laharghat In Mayana

गुना के सोडी गांव में फंसे 200 लोगों को बचाया:NDRF ने 4 घंटे का ऑपरेशन चलाया, 3 महीने की बच्ची को भी बचाया; लहरघाट में सिंध 55 फीट ऊंचे पुल से 5 फीट ऊपर बही

गुना4 महीने पहले
सोडी गांव से लोगों का रेस्क्यू करते सेना के जवान।

मध्यप्रदेश में सिंध, पार्वती, कूनो और चंबल नदी की बाढ़ अब भी मुसीबत बनी हुई हैं। गुना और आसपास के क्षेत्रों में शुक्रवार को हुई बारिश के बाद कूनो, पार्वती और सिंध का जल स्तर फिर बढ़ गया है। पार्वती के किनारे बसा सोडी गांव पानी से घिरा है। यहां फंसे 200 लोगों को 4 घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद NDRF और सेना ने सुरक्षित निकाल लिया है। लोगों को राजस्थान के छबड़ा में बने बेस कैंप में रोका गया है। रेस्क्यू ऑपरेशन सुबह 9 बजे से शुरू हुआ था।

गुना में इन नदियों के उफान पर आने का असर ग्वालियर-चंबल के शिवपुरी, श्योपुर, दतिया भिंड-मुरैना और ग्वालियर में भी पड़ेगा। ये नदियां इन जिलों से होकर बहती हैं। फिलहाल सिंध का पानी इन इलाकों में कम है, लेकिन गुना में जलस्तर बढ़ने का असर यहां पर दिखेगा। इधर, चंबल नदी में जल स्तर फिर से बढ़ने लगा है। सुबह 3 बजे चंबल का जलस्तर 140 मीटर था, जो पिछले 6 घंटे के दौरान बढ़कर 140.60 मीटर हो गया है।

रेस्क्यू के दौरान टीम ने 3 महीने की बच्ची को भी बचाया। कलेक्टर और एसपी बच्ची को गोद में लेकर आए।
रेस्क्यू के दौरान टीम ने 3 महीने की बच्ची को भी बचाया। कलेक्टर और एसपी बच्ची को गोद में लेकर आए।

शनिवार की सुबह 9 बजे की रिपोर्ट में चंबल का जलस्तर 60 सेंटीमीटर बढ़ गया है। विभाग के अधिकारियों की माने तो चंबल का जल स्तर फिलहाल बढ़ता जाएगा। यह दो मीटर तक और बढ़ेगा। इसके बाद कम होता जाएगा। विभाग का कहना है कि गुना व उसके आसपास के क्षेत्रों में बारिश होने से पार्वती नदी में पानी आ गया है। इसकी वजह से चंबल का जल स्तर बढ़ गया है।

म्याना के लहरघाट में सिंध 55 फीट ऊंचे पुल से 5 फीट ऊपर बह रही है।
म्याना के लहरघाट में सिंध 55 फीट ऊंचे पुल से 5 फीट ऊपर बह रही है।

गुना की स्थिति खराब
शुक्रवार रात से ही गुना कलेक्टर और SP वहां मौजूद हैं। गुना की तरफ से फतेहगढ़ से इस गांव को जोड़ने वाला रोड पूरी तरह बंद है। इसके कारण धरनावदा से राजस्थान होते हुए टीम वहां पहुंची है। पार्वती की दो धाराओं के बीच में फंसकर यह गांव टापू बन गया है। पहले शुक्रवार-शनिवार की रात को ही रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू होना था, लेकिन लगातार पानी गिरने से यह शुरू नहीं हो सका था।

शनिवार सुबह यह शुरू हो पाया। सोडी गांव का संपर्क 15 दिनों से जिले से कटा हुआ है। उधर दूसरी तरफ सिंध नदी पूरे उफान पर है। म्याना के लहरघाट में सिंध पुल से 5 फ़ीट ऊपर बह रही है। इससे लहरघर में सिंध पर बना 50 फीट पुल डूब गया है। म्याना-नईसराय मार्ग बंद हो गया है।

बमोरी इलाके के 20 गांव से 450 लोगों को निकालकर राहत शिविरों में रखा गया है। शुक्रवार को भारी बारिश के दौरान लम्बे समय से बिजली बंद है। इससे लोगों के मोबाइल तक बंद हो गए हैं। शुक्रवार देर शाम कुछ इलाकों में बिजली चालू हो सकी। अब इसे बाद जैसे-जैसे लोगों के फोन चालू हो रहे हैं और प्रशासन तक सूचना आ रही है। लोगों को भी रेस्क्यू किया जा रहा है। राहत शिविरों में लोगों की संख्या और बढ़ सकती है। झागर, कूनो, पार्वती के उफान पर आने से अभी भी लगभग 50 गांव प्रभावित हैं। यहाँ से भी जैसे-जैसे सूचना आ रही है, लोगों को रेस्क्यू किया जा रहा है।

गुना में रेस्क्यू करने पहुंची एनडीआरएफ की टीम।
गुना में रेस्क्यू करने पहुंची एनडीआरएफ की टीम।

गुना शहर की हालत भी बिगड़ी
गुना में मूसलाधार बारिश के चलते कई कालोनियों में पानी भर गया और शहर में बाढ़ के हालात निर्मित हो गए। ऐसा ही एक मामला न्यू सिटी कॉलोनी मे हुआ, जहां पर 10 लोगों को एसडीआरएफ ने सकुशल बचाया। मूसलधार बारिश के बाद कई कॉलोनियां जलमग्न हो गई। घरों में पानी घुस गया, नदी नाले उफान पर आ गए। कई लोग बहते बहते बचे। ऐसा ही एक मामला शहर की न्यू सिटी कॉलोनी में घटा जहां कॉलोनी में पानी भरने से एक मकान चारों तरफ से पानी से घिर गया। इस मकान के अंदर 2 बच्चे सहित 10 लोग थे। इस सूचना पर SDRF की टीम ने पहुंचकर सभी लोगों को सकुशल रस्सी के सहारे घर से बाहर निकाला और उन सभी को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।

नानाखेड़ी में बहे व्यक्ति का मिला शव
शुक्रवार को नानाखेड़ी पुलिया पर तेज रफ़्तार से बह रहे पानी के बीच पुलिया पार करते हुए एक व्यक्ति बह गया था। लोगों ने उसे पकड़कर खींचने की बहुत कोशिश की, लेकिन उसे पकड़ नहीं पाए। शनिवार सुबह उक्त व्यक्ति का शव 3 किमी दूर पिपरौदा पुलिया के पास मिला। मृतक का नाम पिपरौदा निवासी नीलेश जैन बताया जा रहा है। नीलेश का शव पुलिया के पास झाड़ियों में फंसा मिला।

खबरें और भी हैं...