पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • 7 Hours In Medical Ward, Report Came Positive Then Sent To Kovid Center, Kept With Other Dead Bodies All Night After Death

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गैर जिम्मेदारी:7 घंटे मेडिकल वार्ड में, रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो कोविड सेंटर भेजा, मौत के बाद पूरी रात दूसरे शवों के साथ रखा

गुना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लंबे समय से बीमार बुजुर्ग को पहले बिना जांच के किया भर्ती, शिवपुरी ले जाने का परिजनों पर बनाया दबाव

कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए पूरी गाइड लाइन का पालन करने को कहा जा रहा है, लेकिन जिम्मेदार ही लापरवाही करें तो क्या होगा? ऐसा ही एक मामला जिला अस्पताल में सामने आया। पहले तो कोरोना संक्रमित का 7 घंटे तक मेडिकल वार्ड में भर्ती कर सामान्य मरीज के साथ इलाज चलता रहा, जब जांच कराई तो वह पॉजिटिव निकले तो अफरा-तफरी मच गई। आनन-फानन में कोविड के लिए बने आईसीयू में भर्ती करने की जगह आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया। जहां उचित उपचार न मिल पाने की वजह से बुजुर्ग की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने शिवपुरी ले जाने का दबाव बनाया, जब उनसे कहा कि 10 घंटे पहले जब अस्पताल आए थे तब यह बात बतानी थी, मरीज गंभीर हुआ तो रेफर किया जा रहा है। जबकि पहले से ही अगर कोविड आईसीयू में इलाज चलता तो यह स्थिति न होती? इतना सब होने के बाद जब संक्रमित की मौत हो गई तो शव को भी पीएम रूम में रखवा दिया गया, जबकि पहले से ही बिना संक्रमित दो शव रखे थे। जानकारों का कहना है कि यह गंभीर लापरवाही है, कोविड संक्रमित शव को रखने के लिए अलग से इंतजाम होने चाहिए।

10 बिस्तरों का आईसीयू तैयार, लेकिन अब तक नहीं खोला गया ताला
जिले में लगातार संक्रमित मामले आ रहे हैं। गंभीर मरीजों को रैफर भी किया जा रहा है। लेकिन एक अलग से ही 10 बिस्तरों का आईसीयू तैयार हो चुका है। एक माह से इसमें ताला लगाकर रखा हुआ है। कायदे से गंभीर मरीजों का अगर तत्काल यहां रखकर इलाज करें तो उनकी जिंदगी बजाई जा सकती है। 5 वेंटिलेटर भी इस जगह पर लग चुके हैं। लेकिन अब तक उपयोग नहीं हो रहा है। गैल ने मार्च माह में ही 40 लाख रुपए वेंटीलेटर की खरीदी को लेकर राशि जारी कर दी थी। लेकिन इसके बाद भी इन्हें खरीदी में ही 5 माह लगा दिए। एक माह तक तो वेंटीलेटर की पैकिंग तक नहीं खोली गई। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्वास्थ्य सेवा देने के लिए संसाधन होने के बाद भी इन्हें उपयोग में कितनी लापरवाही बरती जाती है।

वार्ड में भर्ती अन्य मरीजों की जांच तक नहीं कराई
संक्रमित बुजुर्ग मेडिकल वार्ड में जिस जगह भर्ती थे, वहां अन्य मरीज भी थे। लेकिन इन मरीजों की सैंपलिंग तक नहीं की गई है। कायदा होता है कि अगर सामान्य वार्ड में अगर गफलत से संक्रमित भर्ती हो गया तो उसके आसपास भर्ती मरीजों की भी जांच हो। लेकिन ऐसा नहीं किया गया है।
कोविड सेंटर में आग लगी तो कौन लेगा इसकी जिम्मेदारी
उपसंचालक स्वास्थ्य भोपाल डॉ. मनीष जो नजारे जिला अस्पताल के कोविड सेंटर को देखने पहुंचे। उनके साथ सिविल सर्जन, सीएमएचओ भी मौजूद थे। कोविड सेंटर में आग से बचाव को लेकर अग्निशमन तक नहीं लगाए गए थे। जबकि कई जगह आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं।

^संक्रमित का शव मेटरनिटी में अन्य शवों के साथ रखा है, इस संबंध में मुझे जानकारी नहीं है। शव को दूसरी कोई जगह रखने के लिए नहीं है। इस वजह से मेटरनिटी में रखा होगा, शव को अलग-अलग रखा होगा कोई एक के ऊपर एक थोड़े रखे हैं। जिससे खतरा पैदा हो। -पी बुनकर, सीएमएचओ

गंभीर लापरवाही... जिम्मेदारों को जैसे नियमों का पता ही नहीं
दुर्गा टॉकीज के पीछे रहने वाले 70 वर्षीय बुजुर्ग को गंभीर बीमारियों की वजह से शनिवार सुबह 9.30 बजे जिला अस्पताल में लाया गया था, डॉक्टरों ने बिना कोविड सैंपल लिए ही मेडिकल वार्ड में सामान्य मरीजों के साथ भर्ती कर दिया। जब शाम 4 बजे देखा कि स्थिति में सुधार ही नहीं हो रहा तो कोरोना जांच कराई, आधा घंटे बाद ही रिपोर्ट मिली जो पॉजिटिव थी। इसके बाद आनन-फानन में मरीज को कोविड सेंटर स्थित आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया। जहां उनकी रात 8 से 9 बजे के बीच मौत हो गई। शव को पैकिंग कर पीएम रूम में रखवा दिया गया। जबकि पहले से संदेहास्पद स्थिति और जहर खाने से हुई मौत के मामले में दो शव रखे थे। दूसरे दिन रविवार को संक्रमित के शव का नगर पालिका ने परिजनों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार करवाया। एक डॉक्टर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यह गंभीर लापरवाही है, संक्रमित शव को सुरक्षित एक अलग जगह पर रखा जाना चाहिए। पैकिंग के बाद भी संक्रमण फैलने का खतरा रहता है। गाइड लाइन में साफ है कि संक्रमित शव पैकिंग में रहेगा, फिर भी अंतिम संस्कार के समय पीपीई किट पहनी जाती है। इससे साफ होता है कि यह एक लापरवाही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser