विवाद:मरीज की मौत के बाद अस्पताल में परिजनों ने की तोड़फोड़, डॉक्टरों से भी की मारपीट

गुना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अस्पताल की खिड़की दरवाजों और ऑक्सीजन सिलेंडर में लगने वाले फ्लो मीटर भी तोड़े

कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। वहीं साडा अस्पताल में हाल ही में ऑक्सीजन बेडों का इंतजाम कर लोगों को राहत पहुंचाने का कार्य किया गया था। इसके बावजूद मृतकों के परिजन लगातार अस्पतालों पर इलाज में तरह-तरह के लापरवाही के आरोप लगा रहे हैं। ऐसा ही कुछ राघौगढ़ के साडा अस्पताल में बुधवार रात देखने में आया।

यहां एक कोरोना के मरीज की मौत के बाद परिजनों ने न केवल हंगामा किया, बल्कि अस्पताल में जमकर तोड़-फोड़ की। जिससे यहां भर्ती अन्य मरीजों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं यहां तैनात कर्मियों ने भागकर अपनी जान बचाई। कोविड केयर सेंटर साडा कॉलोनी राघाैगढ़ में भर्ती एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की रात्रि में मृत्यु के पश्चात संबंधित के परिजनों द्वारा अस्पताल में ड्यूटीरत डॉक्टर तथा अन्य स्टाफ के साथ गाली गलौज एवं मारपीट की गई। इस दौरान स्टाफ ने अस्पताल से भागकर अपनी जान बचाई।

ऑक्सीजन सप्लाई उपकरण भी टूटे
इसके उपरांत संबंधित मरीज के परिजनों द्वारा अस्पताल की खिड़की दरवाजों और ऑक्सीजन सिलेंडर में लगने वाले फ्लो मीटर आदि की तोड़-फोड़ भी की गई। जिसके कारण भर्ती अन्य मरीजों, जिनको की ऑक्सीजन की जरूरत है उन्हें भी ऑक्सीजन सप्लाई में काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

कोविड केयर सेंटर साडा में ड्यूटी रत स्टाफ ने पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की मांग की है। संबंधित घटना की लिखित जानकारी बीएमओ राघौगढ़ द्वारा आवश्यक कार्रवाई के लिए एसडीएम और थाना प्रभारी राघौगढ़ को भेजी गई है। वहीं संबंधितों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है। जिससे भविष्य में इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाई जा सके और मरीजों को इलाज में किसी प्रकार की दिक्कत का सामना करना ना पड़े। समस्त स्टाफ निश्चित होकर अपना कार्य कर सके।

खबरें और भी हैं...