पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लाइव प्रचार:दोनों प्रत्याशी माइक-स्पीकर साथ में लेकर चलते हैं, घर के सामने पड़ी खटिया को ही बना लेते हैं मंच

गुनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रचार के दो दिन शेष } सिसौदिया- सत्ता से जुड़े रहे तो सभी काम होंगे, अग्रवाल पुराने कामों की दिला रहे याद

बमोरी उपचुनाव में प्रचार के लिए अब दो दिन बचे हैं। इनमें दोनों प्रत्याशी व दल अब अपने परंपरागत प्रभाव वाले क्षेत्रों को और मजबूत करने में लगे हुए हैं। मसलन शुकवार को भाजपा प्रत्याशी महेंद्र सिंह सिसौदिया उन गांवों में गए जहां कांग्रेस बहुत ज्यादा मजबूत नहीं रही है। मसलन गढ़ा, भटाेदिया और नयागांव जैसे इलाके जहां ओबीसी जाति समुदाय का वोट बैंक बहुत ज्यादा है। उधर कांग्रेस प्रत्याशी केएल अग्रवाल खड़ेला, मोरखेड़ी, देहरा आदि गांवों में पहुंचे। यह तीनों आदिवासी बाहुल्य इलाके हैं। यह समुदाय कांग्रेस की सबसे बड़ी ताकत रहा है। वे लोगों को 2008 से 2013 तक के अपने कार्यकाल को याद कराते हैं, जब वे बमोरी से विधायक रहे और सरकार में मंत्री। हर बस्ती में कभी किसी घर के सामने पड़ी खटिया तो कभी सड़क ही उनका मंच बन जाती है। दोनों की प्रत्याशियों के साथ माइक और स्पीकर उनके साथ ही रहता है।

भाजपा प्रत्याशी महेद्र सिंह सिसौदिया: ये दोपहर 12 बजे से रात 12 बजे तक जनसंपर्क कर रहे हैं
दोपहर 12.30 बजे: नयागांव :
उन्होंने लोगों को याद दिलाया कि जिस सड़क से वे आएं हैं वह कभी कच्ची हुआ करती थी। आपका समर्थन न मिलने पर भी मैंने सीसी रोड बनवाई। दरअसल वे उस चुनाव की बात कर रहे थे, जब वे कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरे थे।
दोपहर 1 बजे: भटोदिया गांव: यहां पर बिजली की समस्या सामने आई। यहां जोतसिंह यादव पंचनामा लेकर पहुंचे कि डेढ़ साल से उनके खेत के ऊपर से खतरनाक ढंग से बिजली की लाइन निकल रही है। इससे बीते साल एक बच्चे की मौत हो गई और फसल में आग भी लग गई। गांव में घर-घर बिजली पहुंचाने का काम भी बंद पड़ा हुआ है।
दोपहर 1.30 बजे: गढ़ा : भाजपा प्रत्याशी के संबोधन के दौरान एक बुजुर्ग महिला उठकर खड़ी हो गई, वह कहने लगीं कि हमें कुटीर कब मिलेंगी? जिनके पास पहले से पक्के मकान हैं उन्हें ही फिर से कुटीर मिलने लगी है।

कांग्रेस प्रत्याशी केएल अग्रवाल: किसान जब फुर्सत हो जाते हैं, तभी निकलते हैं जनसंपर्क पर
दोपहर 2.30 बजे- खड़ेला :
यहां पर श्री अग्रवाल आदिवासी बस्ती में पहुंचे और कहा कि मैं झूठ बोलकर वोट नहीं लेना चाहता, जो काम में करवा सकता हूं, वहीं कहूंगा। यहां पर लोगों ने कुटीर, बिजली और पानी की मांग की। इस पर उन्होंने चुनाव जीतने के बाद काम का आश्वासन दिया।
दोपहर 3.30 बजे- मोरखेड़ी गांव : वे जब यह बता रहे थे कि उन्होंने अपने कार्यकाल में 40 सब स्टेशन बनवाए थे, तब लोगों की ओर से बिजली की समस्या उठाई जा रही थी। यहां लोगों का कहना था कि भाजपा के लोग हमारे यहां लगे कांग्रेस के झंडे उखाड़ लेते हैं। उनका कहना था कि आपको ऐसे लोगों का डटकर सामना करना पड़ेगा।
दोपहर 7.30 बजे- देहरा गांव : यहां पर लोगों ने कुटीर की समस्या उठाई। लोगों का कहना था कि हमने पैसे ले लिए पर कुटीर नहीं दी। इस पर अग्रवाल ने कहा कि जो खुद बिक चुके हैं, वे आपकी समस्या क्या हल करेंगे।

अपने-अपने दावे

भाजपा : जनता के मुद्दों के सामने दोनों प्रत्याशियों की अपने प्रचार की लाइन तय शुदा हुई है। मसलन तीन गांव में भाजपा प्रत्याशी ने बार-बार लोगों को एक ही बात कही कि उपचुनाव के बाद प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी। वे पंचायत विभाग के ही मंत्री बनेंगे। इसलिए उनके पास विकास कराने के ज्यादा संसाधन भी रहेंगे। उनके विभाग का बजट 8 हजार करोड़ रुपए होगा। वे लोगों की हर समस्या का हल कर सकते हैं। इसलिए लोगों को अपना वोट बर्बाद होने से बचाना चाहिए। विपक्ष में वोट देने से किसी को कोई फायदा नहीं मिल पाएगा। भाजपा से जुड़े तो आपको विधायक, मंत्री, सीएम और पीएम एक साथ मिल जाएंगे। कांग्रेस : कांग्रेस प्रत्याशी बिकाऊ और टिकाऊ प्रत्याशी का मुद्दा उठा रहे हैं। मोरखेड़ी गांव में उन्होंने कहा कि जो खुद बिक गए, वह आपका विकास क्या कराएंगे। वे बार-बार जनता को यह याद दिलाते हैं कि भाजपा प्रत्याशी ने आपका वोट बेच दिया है। इसलिए उन पर विश्वास नहीं किया जा सकता है। उनका तीसरा अहम मुद्दा महंगी और पहुंच से बाहर बिजली और डीजल का रहता है। यह किसान की सबसे दुखती रग है। अंत में वे यह याद दिलाना नहीं भूलते कि 2008 से 2013 के दौरान उन्होंने बमोरी में जो काम कराए, वे ही आज तक लोगों को फायदा पहुंचा रहे हैं। भाजपा प्रत्याशी ने अपने दो कार्यकाल में कुछ भी नहीं कराया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें