पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नल-जल योजना:चैंबर बनाए लेकिन एक माह गुजरने के बाद भी नहीं ढंका, अब बढ़ रहीं दुर्घटनाएं

मधुसूदनगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खुदी सड़क की मरम्मत नहीं हाेने से लोगों को करना पड़ रहा परेशानी का सामना

नल जल-योजना के तहत बनाए गए चैंबर को एक माह गुजरने के बाद भी अब तक ऊपर से ढंका नहीं गया है। इन चैंबरों को लोहे की प्लेट से ढंकना था। ऐसे में खुले पड़े चैंबर लोगों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। बारिश होने के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

क्योंकि नगर में लगभग हर 100 मीटर की दूरी पर यह चैंबर बनाए गए हैं राजीव सागर डेम से स्वीकृत नल-जल योजना के तहत पाइप लाइन डालकर घर-घर पेयजल सप्लाई योजना के तहत गली-गली में ऐसे चैंबर बनाए गए हैं।

लेकिन ठेकेदार की लापरवाही के चलते लगभग एक माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी इन्हें आज नहीं ढंका गया। ऐसे में संकरी गलियों में बने चैंबरों में कई लोग अंधेरे में इन चैंबरों में गिर भी जाते हैं। इससे मोटरसाइकिल चालक व अन्य लोगों को परेशानी होती है।

9 करोड़ की लागत से बन रही नल-जल योजना
लगभग 9 करोड़ की लागत से बनने वाली योजना के तहत राजीव सागर बांध से प्रतिदिन 20 लाख लीटर पानी लिया जाएगा। डेम के निकट इंटेक बनाया जाएगा। जहां 7 कि मी की डीआई पाइप लाइन बिछाकर पानी फिल्टर प्लांट तक लाया जाएगा, जिसकी क्षमता दो एमएलडी होगी। इस योजना के तहत के साथ साढ़े पांच लाख लीटर की टंकी का निर्माण भी किया जाएगा।

वाहन चालक दुर्घटना का हो रहे हैं शिकार
पाइपलाइन डालने खोदी गई नालियां भी कई स्थानों पर भी खुली पड़ी हुई हैं उनके ऊपर भी सीमेंट कांक्रीट डालकर कार्य पूर्ण नहीं किया गया है। जिससे गलियों में से निकलने वाले वाहन चालक दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। वहीं बारिश होने पर सड़कों पर कीचड़ जमा हो जाती है। जिन मोहल्लों में पेवर्स लगे हैं।

वहां पेवर्स भी धंसक गए हैं और क्षतिग्रस्त हो गए हैं। जिनकी समय पर मरम्मत की जान जरूरी है। ग्रामीणों ने बताया कि सभी जगह पर पाइप लाइन डाल दी गई है, जो मलबा निकला है। उसको खोदी गई जगह पर भरा नहीं गया है। इस वजह से सभी जगह पर धूल ही धूल उड़ती है। वहीं कल हुई बारिश के कारण सभी जगह पर कीचड़ हो गया है।

खबरें और भी हैं...