पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रानी लक्ष्मीबाई बलिदान दिवस:सांसद सिंधिया के भाजपा में जाने के बाद पहली बार कांग्रेस ने मनाया रानी लक्ष्मीबाई का बलिदान दिवस

गुनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपा ने भी कभी संगठन के स्तर पर नहीं किया था कोई आयोजन

शुक्रवार को संभवत: पहली बार झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का बलिदान दिवस मनाया गया। कांग्रेस ने हनुमान चौराहे पर यह कार्यक्रम आयोजित किया। बलिदान दिवस पर कांग्रेस नेताओं ने “राजपरिवार’ और “राजघराने’ शब्दों का खूब इस्तेमाल किया लेकिन किसी का नाम नहीं लिया गया।

पार्टी नेताओं ने संकल्प लिया कि आजादी के आंदोलन में बाधा बनने वाले सभी राजपरिवारों को सबक सिखाया जाएगा। नेताओं ने यह भी आरोप लगाया कि अगर “कुछ राजपरिवार’ सहयाेग करते ताे प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में ही भारत आजाद हो जाता। देश को गुलामी के और 100 साल नहीं झेलने पड़ते। इस मौके पर जिलाध्यक्ष हरिशंकर विजयवर्गीय जी, नूर अल हसन नूर, विश्वनाथ तिवारी, कैलाश नारायण भार्गव, डॉ. ओपी त्रिपाठी, बसंत शर्मा, प्रशांत शर्मा, सीमा यादव आदि मौजूद रहे।

अच्छा फोटो तक नहीं मिला : कार्यक्रम के दौरान माल्यार्पण के लिए रानी लक्ष्मीबाई एक फोटो रखा गया था। वह भी लगता है कि बड़ी मुश्किल से जुटाया गया था। वह एक स्केचनुमा फोटो था, जो एक बहुत अच्छी ड्राइंग नहीं कही जा सकती।

खबरें और भी हैं...