पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जानलेवा लापरवाही:कोरोना की आड़ में डेंगू नजरअंदाज... जिला अस्पताल में 3 का इलाज, फिर भी सर्वे नहीं

गुना9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के 5 क्षेत्रों में मिले मरीज पर सीएमएचओ एलाइजा टेस्ट पर अड़े

कोविड 19 के प्रकोप के बीच डेंगू जैसे खतरनाक वायरस को प्रशासन भूल ही गया है, जबकि बारिश के बाद यह दस्तक देता है। जिले में हर साल डेंगू के बचाव को लेकर जागरुकता फैलाई जा रही है लेकिन इस बार सब गायब हो चुका है। अभी तक शहर के ही कर्नलगंज, शिवाजी नगर, संतोषी माता मंदिर गली, तलैया मोहल्ला, नजूल काॅलोनी और सिसौदिया काॅलोनी में डेंगू के मामले सामने आ चुके हैं। जिला अस्पताल के पीआईसीयू में ही एक बच्चा भर्ती है। वहीं 4 दिन से भर्ती 2 मरीजों की डिस्चार्ज किया जा चुका है। इतना सब होने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग हरकत में नहीं आया है। जिला अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ खुद स्वीकार कर रहे हैं कि डेंगू के मामले शहर में आ चुके हैं। निजी लैब से आई रिपोर्ट के आधार पर ही इसकी पुष्टि हुई है। सीएमएचओ पी बुनकर का कहना है कि एलाइजा टेस्ट के बाद ही वह मामले को रिकॉर्ड में लेंगे।

जिम्मेदारियों से बच रहा स्वास्थ्य विभाग... अधिकारी कह रहे हैं कि एलाइजा टेस्ट के बाद ही हम रिकॉर्ड में लेंगे पर सरकारी डॉक्टर मान रहे फैल रहा डेंगू

हर साल बारिश के बाद शुरू होता था सर्वे
बारिश के बाद डेंगू जैसे वायरस की चपेट में लोग आते हैं क्योंकि पानी एकत्रित होने से इसका मच्छर पनपता है। इसलिए पानी को फेंकना चाहिए। लेकिन इस बार न तो जागरुकता को लेकर आयोजन हुए न ही फीवर सर्वे किया गया। नगर पालिका ने भी समय पर फॉगिंग मशीन से मच्छर नाशक का छिड़काव नहीं किया है। जब पॉजिटिव केस मिलने की सूचना आई तो नपा का अमला सक्रिय हुआ औरो फॉगिंग मशीन चलवाई।

इन क्षेत्रों में सामने आए मामले
डेंगू पॉजिटिव केस अभी बच्चों में ही सामने आए हैं। शहर के नजूल काॅलोनी निवासी एक 15 वर्षीय बच्ची पॉजिटिव हुई। इसका जिला अस्पताल में इलाज चला। वहीं नई सड़क निवासी एक 14 वर्षीय बच्चा भी डेंगू पॉजिटिव हुआ। दोनों का 4 दिन इलाज अस्पताल में हुआ। हालांकि दोनों को डिस्चार्ज कर दिया है। वहीं एक बच्चा अब भी अस्पताल में भर्ती है। सरकार अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. एसपी जैन का कहना है कि मामले तो सामने आए हैं, इस समय कोविड भी चल रहा है। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. मनीष जैन का कहना है कि शहर में कई इलाके में डेंगू पॉजिटिव आए हैं।

किसकी क्या जिम्मेदारी
स्वास्थ्य विभाग :
बारिश के बाद सर्वे कराना, अगर पॉजिटिव कहीं केस मिले तो उसके आसपास 100 घरों में फीवर जांच और लार्वा के नष्ट की प्रक्रिया शुरू करना। इसके अलावा लोगों को जागरूक करना। जिन जगह केस मिले, इसकी जानकारी नपा तक भेजना।
नगर पालिका : बारिश के बाद शहर में फोगिंग मशीन से मच्छर नाशक का छिड़काव करना। स्वास्थ्य विभाग से सूचना आने पर उस क्षेत्र में विशेष तौर पर छिड़काव करना, जहां पॉजिटिव मामले आए हैं।
लोग : वह मच्छर न पनपे दें। हर 7 दिन में घर की सफाई करें तो देखें कहीं पर पानी तो नहीं भरा है। कूलर का पानी साफ करें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें