पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छुट्‌टी के दिन भी केंद्रों पर भीड़:राशन बंद होने की आशंका से हर कोई लगवाना चाहता है वैक्सीन

गुना17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बुधवार को वैक्सीन न होने की वजह से टीकाकरण नहीं हुआ। इसके बावजूद बड़ी संख्या में लोग मानस भवन और उत्कृष्ट स्कूल स्थित टीकाकरण केंद्रों पर पहुंच गए। बाद में जब उन्हें पता चला कि आज वैक्सीनेशन नहीं होगा तो उन्होंने जमकर नाराजगी जाहिर की। केंद्रों पर पहुंचे ज्यादातर लोग दूर दराज के इलाकों जैसे कैंट, बूढ़े बालाजी, सकतपुर, पिपरौदा, बांसखेड़ी आदि जगहों से पहुंचे तो।

कभी इन इलाकों के लोग टीकाकरण के लिए पहुंचते नहीं थे। अब उनके बीच यह अफवाह फैली है कि अगर टीका नहीं लगवाया तो राशन बंद हो जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को प्रेसनोट जारी कर दिया था कि बुधवार को वैक्सीनेशन सेंटर बंद रहेंगे। इसके बावजूद यह जानकारी आम लोगों तक नहीं पहुंची।

दरअसल टीकाकरण केंद्रों पर एक दिन पहले सूचना चस्पा हो जाना चाहिए कि अगले दिन वैक्सीनेशन की स्थिति क्या रहेगी। उधर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कहते हैं कि कई बार वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर स्थिति साफ नहीं रहती है। ऐन वक्त पर सत्र प्लान करना पड़ता है तो कभी निरस्त कर दिया जाता है।

आज शहर में इन केंद्रों पर होगा वैक्सीनेशन
आज शहर में इन केंद्रों पर होगा वैक्सीनेशन

नोट : उत्कृष्ट स्कूल में 400 डोज कोविशील्ड के पहले एवं दूसरे डोज के लिए रहेगी। 200 डोज कोवैक्सीन रहेगी। इसे दूसरे डोज वाले लाभर्थियों को दिया जाएगा।

सूचना चस्पा न करने से जमकर भड़के लोग, आज दोनों डोज लगाए जाएंगे, 3 हजार वैक्सीन उपलबध
आज होगा टीकाकरण : बहरहाल 15 जुलाई यानि गुरुवार को टीकाकरण होगा। हालांकि वैक्सीन का टोटा अब भी बना हुआ है, क्योंकि शहर के लिए 3000 डोज ही उपलब्ध होंगे। इनमें से 200 कोवैक्सीन के होंगे, जो सिर्फ दूसरे डोज के लिए रहेंगे। कोविशील्ड के दोनों डोज उपलब्ध रहेंगे।

अफवाह है, टीका नहीं लगाया ताे राशन बंद हो जाएगा
टीकाकरण केंद्रों पर उन इलाकों के लोग अब ज्यादा पहुंच रहे हैं जो पहले टीका लगवाने से डर रहे थे । आखिर यह बदलाव आया कैसे? इसका जवाब तब मिला जब लोगों से बात की। उनका कहना था कि उन्हें यह बताया गया है कि अगर टीका नहीं लगवाया तो राशन मिलना बंद हो जाएगा।

राशन दुकानदार आधार कार्ड के जरिए यह जान लेंगे कि टीका लगवाया है या नहीं। इसलिए अब लोग टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। यही वजह है कि बूढ़े बालाजी स्वास्थ्य केंद्रों पर हमेशा लक्ष्य से ज्यादा टीकाकरण हो रहा है।

खबरें और भी हैं...