• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Guna
  • Fake Company Created By A Person From Rajasthan; Old Employees Of Fertilizers Were Sent To Sell Fertilizers By Giving Maps Of Districts

किसानों को ऐसे बेच रहे थे नकली खाद:राजस्थान के शख्स ने बनाई फर्जी कंपनी; फर्टिलाइर के पुराने कर्मचारियों को जिलों के नक्शे देकर भेजा

गुना7 महीने पहले
पुलिस की गिरफ्त में नकली खाद बेचने वाले आरोपी।

नकली खाद बेचने वालों पर गुना पुलिस की दूसरे दिन भी कार्रवाई जारी रही। पुलिस ने मास्टरमाइंड का भी पता लगा लिया है। उसे पकड़ने के लिए टीम राजस्थान रवाना हुई है। अभी तक आरोपी 100 से ज्यादा बोरी जिले के कई गांव में खपा चुके हैं। वहीं, 500 से ज्यादा बोरी DAP खपा चुके हैं। पकड़े गए सभी आरोपी पूर्व में फर्टिलाइजर कंपनी में काम कर चुके हैं। उसी का फायदा उठाकर ये लोग नकली खाद बेच रहे थे।

शनिवार शाम पुलिस ने धरनावदा इलाके में दबिश देकर नकली खाद बेचने वालों को पकड़ा था। उनके कब्जे से 45 बोरी नकली खाद बरामद की। साथ ही आरोपियों की निशानदेही पर गुना में गोदाम से भी पुलिस ने 45 बोरी खाद जब्त की। पुलिस ने मामले में अब तक कुल 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ये लोग जिले में खाद का संकट बताकर ग्रामीणों को बातों में लेते थे। इसके बाद उन्हें नकली खाद बेच रहे थे।

ऐसे आए इस गोरखधंधे में
पकड़े गए आरोपी राजस्थान के रहने वाले हैं। ये लोग पहले फर्टिलाइजर कंपनी में काम करते थे। जयपुर के रहने वाले रफीक खान ने फर्जी फर्टिलाइजर कंपनी बनाई। उसमें सभी को नौकरी पर रखा। इन्हें 15 से 20 हजार रुपए प्रतिमाह वेतन देता था। इनका काम जगह-जगह घूमकर जानकारी जुटाने और खाद बेचने का था। इसी के द्वारा कर्मचारियों को शहरों और जिलों के नक्शे दे दिए जाते थे। ये लोग अलग-अलग जाकर चौपाल लगाते थे। वहां ग्रामीणों को बताया जाता था कि खाद का संकट है। हम लोग आपको सरकारी जैसा ही खाद उतनी ही रेट पर उपलब्ध करा देंगे।

गुना में भी यही कार्यप्रणाली अपनाई। शनिवार को पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में जानकारी मिली कि राजस्थान के मेवात क्षेत्र से कुछ लोग गुना आए हैं। ये जिले के गांवों में जाकर किसानों की चौपाल बुलाते हैं। प्रदेश में खाद संकट के बावजूद उन्हें अच्छी किस्म का खाद विशेष ऑफर के साथ गांव में ही 1200 रुपए प्रति बोरी के हिसाब से उपलब्ध कराने का प्रलोभन देते हैं।

जयपुर के पास से लाए थे नकली खाद
SP राजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि पुलिस द्वारा गिरोह के सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए टीम लगाई गई थी। आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि प्रदेश में खाद संकट को देखकर किसानों को खाद उपलब्ध कराने के लिए यह नकली खाद राजस्थान के जयपुर के आसपास से लाई गई थी। प्रदेश के विभिन्न जिलों में किसानों को बेची जा रही थी। इनमें से कुछ बदमाशों द्वारा गुना जिले के विभिन्न गांवों में पहुंचकर किसानों से खाद के ऑर्डर लिए।फिर ऑर्डर अनुसार खाद उपलब्ध कराया जा रहा है। अभी तक इस नकली उर्वरक के करीब 500 कट्टे मंगाए गए हैं। इन्हें जिले के विभिन्न गांवों के किसानों को बेचा रहा था।

ये आरोपी गिरफ्तार

  • इरफान (31) पुत्र बाबू खान निवासी भरतपुर
  • जुनैद (26) पुत्र राजदार खान निवासी भरतपुर
  • जफरुद्दीन (38) पुत्र सुफेदा खान, भरतपुर
  • बेताब (26) पुत्र अल्ताफ खान, गुना
  • आशीष (28) पुत्र बुद्धा जाटव, गुना
  • पप्पू (30) पुत्र काशीराम भील, गुना
खबरें और भी हैं...