पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

13 दिन बाद बरसे बादल:4.30 बजे हनुमान टेकरी, 6.30 पर बाकी शहर में पड़ी बौछारें

गुना20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मौसम के दो रंग, दोपहर तीन बजे तक लोगों को धूप से बचने के लिए छाता लगाना पड़ रहा था, शाम को तेज बौछारों ने राहत दी। - Dainik Bhaskar
मौसम के दो रंग, दोपहर तीन बजे तक लोगों को धूप से बचने के लिए छाता लगाना पड़ रहा था, शाम को तेज बौछारों ने राहत दी।
  • दिन में 41 डिग्री पर पहुंचा पारा, बादल-ठंडी हवा से शाम 5.30 पर तापमान 34 डिग्री

करीब 13 दिन के अंतराल के बाद शहर को बारिश नसीब हुई। हालांकि इससे पहले मौसम ने कड़ी परीक्षा ले ली। दिन में 3 बजे पारा 41 डिग्री पर पहुंच गया था। उमस के कारण सीजन की सबसे तीखी गर्मी ने लोगों को बेहाल कर दिया। फिर शाम 4 बजे से मौसम में बदलाव आना शुरू हुआ। बारिश ने भी पूरे नखरे दिखाए।

पहले हनुमान टेकरी के इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई। इसके करीब दो घंटे बाद पूरे शहर में तेज बौछारे पड़ी। इस दौरान मौसम में छाई उमस और गर्मी भी कम होती गई। शाम साढ़े 5 बजे पारा 34 डिग्री पर पहुंच गया। यानि ढाई घंटे में 7 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

25 तारीख को हुई थी तेज बारिश : शहर में आखिरी तेज बारिश 25 जून को हुई थी। तब 17 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई। उसके बाद मानसून 13 दिन की लंबी छुट्‌टी पर चला गया। बीते करीब 10 दिन से उमस ने लोगों को बेहाल कर रखा था। इस दौरान दो बार पारा 41 डिग्री तक पहुंचा। बुधवार को अधिकतम तापमान इतना ही रहा। जुलाई में जहां लोग बारिश से बचने के लिए छाता लगाते हैं वहां लोगों को धूप की तपन रोकने के लिए इसका इस्तेमाल करना पड़ा।

बारिश क्यों हुई
मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पूर्वी मप्र में मानसून सक्रिय हो गया है। इन इलाकों में घने बादल छाए हुए हैं। इससे प्रदेश के कई इलाकों में पर्याप्त मात्रा में नमी मिल रही है। गर्मी और नमी के मेल से बने गरज-चमक वाले बादलों के कारण बारिश हुई। उम्मीद की जा रही है कि बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम से मानसून को और ताकत मिलेगी। इससे मध्य भारत के इलाकों में अच्छी बारिश की संभावना बनेगी

खबरें और भी हैं...