पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • Hope Was Positive, Janani Vehicle Did Not Call, Then The Woman's Delivery Took Place On The Road Outside The Village

सड़क पर प्रसव:आशा कार्यकर्ता पॉजिटिव होने से नहीं आ सकी, जननी वाहन को फोन नहीं लगा तो महिला अकेले ही चल पड़ी पैदल और रास्ते में बच्चे को दिया जन्म

गुनाएक महीने पहले

गुना जिले के फतेहगढ़ क्षेत्र में जननी वाहन नहीं मिल पाने से एक महिला की गांव के बाहर सड़क पर ही डिलीवरी हो गयी। ग्रामीणों ने मदद करके महिला का प्रसव कराया। प्रसव हो जाने के काफी देर बाद जननी वाहन पहुंचा जिसने उसे अस्पताल पहुंचाया। दरअसल मामला यह है कि ग्राम मारवाड़ा निवासी जानू बाई (30) सोमवार को घर पर अकेली थी। सभी परिवारजन एक शादी में शामिल होने के लिए दूसरे गांव गए हुए थे। सोमवार सुबह 9 बजे के आसपास उसे प्रसव पीड़ा हुई। उसने तत्काल आशा कार्यकर्त्ता को फोन किया। आशा कार्यकर्त्ता कोरोना पॉजिटिव थी। उसने बताया कि वह आइसोलेशन में है। महिला से कहा कि वह आंगनवाड़ी चली जाए। जैसे तैसे महिला आंगनवाड़ी पहुंची तो वहां मौजूद स्टाफ ने जननी वाहन को फोन लगाने की कोशिश की लेकिन उसका फोन नहीं लगा। महिला को प्रसव पीड़ा काफी तेज हो रही थी तो वह अकेली ही गांव से पैदल फतेहगढ़ स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए चल दी। गांव के बाहर पहुंचने पर उसे और ज्यादा तेज प्रसव पीड़ा होने लगी तो वह सड़क पर ही बैठ गई। ग्रामीणों ने यह देखा तो तत्काल थोड़े बहुत कपड़ों का इंतजाम करा कर रोड पर ही उसका प्रसव करा दिए। महिला ने सड़क पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। ग्रामीणों ने फिर जननी वाहन को फोन लगाया तो लगभग आधे घंटे बाद जननी वाहन मौके पर पहुंचा और महिला एवं उसके बच्चे को फतेहगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। देर शाम महिला के परिवार वाले स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। सीएमएचओ डॉ पी बुनकर ने बताया कि आशा के पॉजिटिव होने और जननी वाहन का फोन न लगने के कारण यह घटना हुई है। जैसे ही जननी वाहन को फोन लगा वह तुरंत मौके पर पहुंच गया और जच्चा और बच्चा को अस्पताल में भर्ती कराया गया। दोनों पूरी तरह स्वस्थ हैं। स्वास्थ्य केंद्र में दोनों की देखरेख की जा रही है।