पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • If My Man Cuts The Forest, Then You Will Not Be Able To Get Away From It, Neither You Will Be The Deputy Ranger Nor The Ranger.

बमोरी में वन माफिया:मेरे आदमी जंगल काटें तो दूर से निकल जाना न तू रोक पाएगा, न डिप्टी रेंजर और न रेंजर

गुनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बमोरी क्षेत्र में जंगल बचाने चौकीदार को माफिया ने फोन पर नौकरी से हटवाने तक की धमकी दी

बमोरी में वन माफिया ने पिछले 2 से 3 माह में जहां देखे वहां वन भूमि पर कब्जे की एक प्रतिस्पर्धा सी मची हुई है। जहां जंगल दिखाई देता है, लोग कटाई में लग जाते हैं। इससे चिंतित वन प्रमियों ने इसे बचाने के लिए कोशिशें भी की है, लेकिन इन दबंगों के आगे सब नाकाम होता दिख रहा है। एक वन माफिया का ऑडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें वह एक वन चौकीदार को धमका रहा है कि मेरे आदमी जंगल काटे तो तू दूर से निकल जाना। जंगल नष्ट होने से न तू रोक पाएगा, न डिप्टी रेंजर और न ही रेंजर। इसलिए मेरी बात मान, अगर अधिकारियों के फोन आए तो कह देना कहीं पर भी जंगल की कटाई नहीं हो रही है? इससे पहले वन भूमि को लेकर दो पक्ष उलझ चुके हैं। इस मामले में एसडीओ अनिल चौपड़ा का कहना है कि बमौरी में कहीं कटाई नहीं हो रही है। जब उसने पूछा कि बड़े पेड़ भी काटे गए हैं तो बोले ऐसा नहीं है? हम कार्रवाई भी करते हैं। उनसे पूछा कि पहली बार व्यापक पैमाने पर कटाई हो रही है तो बोले ऐसा नहीं है साफ-सफाई करते हैं। हमारे संज्ञान में बड़े पेड़ की कटाई का मामला नहीं है। जब उसने पूछा पहली बार इतने बड़े पैमाने पर कटाई हो रही है इसकी वजह क्या है तो वह जबाव नहीं दे पाए।

कब्जे को लेकर 2 माह में हो चुके हैं 4 गांव में विवाद
वन भूमि पर अतिक्रमण को लेकर लोग मारने-मरने के लिए भी तैयार है। 2 माह में बमोरी के 4 गांवों में विवाद हो चुके है। सबसे पहला विवाद फतेहगढ़ में हुआ था, भील और मुस्लिम समुदाय के दो पक्ष आमने-सामने आ गए थे। इस मामले में पुलिस ने हत्या के प्रयास की धारा में क्रास प्रकरण दर्ज किया था। इसके बाद पनैटी गांव में मीना समुदाय और बंजारे समुदाय के कुछ लोग आपस में झगड़े। झूमका गांव में वन चौकीदार का भील समुदाय के कुछ लोगों से विवाद हुआ। वहीं दो दिन पहले बमोरी में भी इसी भूमि को लेकर भील और किरार समुदाय में विवाद हुआ। पुलिस ने दोनों पक्ष की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया।
छात्र आगे आया था
महुआखेड़ा गांव में रहने वाले एक छात्र सुमित गुर्जर ने वन बचाने के लिए आगे आकर पहल की है। यह छात्र एक मिसाल हैं, वह जहां भी वन काटे जाते हैं पहुंच जाता है और लोगों से कहता है कि इन्हें मत काटो, क्योंकि यही हमारा जीवन है। हालांकि कई लोगों को इस छात्र की बात बुरी भी लगती है।

धमकाने वाले ने कहा- मैं वनों को बचाने का लेता हूं संकल्प
जैसे ही ऊंकार की ऑडियो वायरल हुआ तो उसे समझ में आया। उससे जब बात की तो वह दैनिक भास्कर के ऑफिस में आया और बोला में आज से ही संकल्प लेता हूं कि अब वन नहीं कटने दूंगा। मैं खुद इसे बचाने का संकल्प लेता हूं। ऊंकार को भास्कर संवाददाता ने समझाया तो कान पकड़कर बोला कि मैं अब वनों को नहीं काटूंगा। खुद रक्षा करूंगा।

इन गांवों में कब्जे
फतेहगढ़ के सिलावटी बीट के कई गांवों में बड़े पैमाने पर वन भूमि पर कब्जे हो रहे हैं। वर्दा, सिलावटी, धनोरिया, जोहरी, तेजपुरा, छतरपुरा, चकलोड़ा, राजपुरा सहित कई गांवों में वन भूमि पर कब्जे शुरु हो चुके हैं। यह तक चर्चाएं हैं कि हर घर से 20-20 हजार रुपए एकत्रित करने के बाद सामूहिक रूप से कटाई की जाती है।

कभी कब्जा नहीं हो सकता
लोगों के बीच गलतफहमी फैली हुई है कि वन भूमि पर कब्जा करने से वह उनकी हो जाएगी। लेकिन ऐसा नहीं है। वन अधिनियम में साफ है कि वन भूमि पर कब्जा किसी का नहीं हो सकता है। विभाग जिस दिन चाहेगा कार्रवाई कर देगा। वहीं वन भूमि पर अगर हकाई करते हुए ट्रैक्टर आदि पकड़ जाता है तो वह राजसात ही किया जाता है।

पूरे ऑडियो में ये कहा
बमोरी के महुआखेड़ा गांव के वन चौकीदार जगदीश ने जब इसे रोकने की कोशिश की तो एक व्यक्ति ने उसे कॉल कर धमकी दी। जो खुद का नाम ऊंकार बता रहा है, कहा रहा है कि अगर मैं दोहरदा होता तो अब तक तेरे घर पर चढ़ाई कर देता। वह चौकीदार से कहता है कि जंगल नष्ट होने से कोई नहीं रोक सकता, अगर मेरे आदमी कटाई करें तो तू दूर से निकल जाना। चौकीदार कहता है कि वह अपना फर्ज निभा रहा हूं। इस पर ऊंकार ने कहा कि मैं तुझे नौकरी से हटवा दूंगा। इससे पहले भी कई चौकीदार आए और चले गए। मुझे कटाई से कोई नहीं रोक सकता, न तू, न डिप्टी रेंजर और न ही रैंजर। मैं कहता हूं वैसा ही करना। सुमित कौन है, जिसने वन की कटाई की खबर निकलवाई थी। चौकीदार ने कहा मेरा भतीजा, तो ऊंकार कहता है कि तूम दोनों सब आदमी को बुरे लग रहे हो, इसलिए जंगल कटाई होने से न रोकों। चौकीदार ने कहा मैं नौकरी करता हूं, नाकेदार का कॉल आया था, मैं तो अपना फर्ज निभाऊंगा तो ऊंकार ने कहा कि हम तुझे ही पैसे के मामले में फंसा देंगे और तू सिद्ध भी नहीं कर पाएगा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें