पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • If The Vehicle Did Not Start, The Body Of The Infected Remained Outside For Half An Hour, Sanitized And Ordered Another

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काेरोना से 16वीं मौत:वाहन चालू नहीं हुआ तो संक्रमित का शव आधे घंटे तक बाहर रहा, सैनिटाइज कर दूसरा मंगाया

गुना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2 नवंबर को भर्ती हुए 62 वर्षीय बुजुर्ग शुगर, बीपी और किडनी रोग के कारण लंबे समय से थे बीमार

जिला अस्पताल के कोविड सेंटर में उपचाररत कोरोना संक्रमित बुजुर्ग की मौत हो गई, वह शुगर, बीपी और किडनी रोग की वजह से पहले से ही बीमार चल रहे थे। अस्पताल में आने से पहले निजी अस्पताल में भी अपनी अन्य बीमारियों का इलाज करा चुके थे। लेकिन कोरोना संक्रमित होने के बाद उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती गई। उन्हें रेफर भी किया गया, लेकिन परिजन बाहर ले जाने की स्थिति में नहीं थे। इस वजह से जिला अस्पताल में ही विशेषज्ञों की देखरेख में इलाज चल रहा था। दो दिन पहले ही वेंटीलेटर पर लिया गया था, इसके बाद भी कोई सुधार नहीं हो पाया। डॉक्टरों का कहना है कि स्थिति गंभीर हो चुकी थी। मेडिकल कॉलेज शिवपुरी रेफर किया गया था, लेकिन परिजनों ने कहा कि यहीं पर इलाज करें। जिला अस्पताल में यह तीसरी संक्रमित की मौत है। शव को कोविड सेंटर से लाकर बाहर रख दिया, लेकिन समय पर मानस भवन समिति का वाहन न आने से परेशानी खड़ी हो गई। वहीं जिला अस्पताल और राघौगढ़ कोविड सेंटर में 43 लोगों को इलाज चल रहा है, इसमें से 2 मरीज ऑक्सीजन पर हैं।

जिले में अभी 75 मरीज कोरोना संक्रमित
जिले में कोरोना संक्रमित 75 व्यक्ति हैं। इसमें से 25 जिला अस्पताल में और 18 राघौगढ़ कोविड सेंटर में भर्ती हैं। 10 मरीज होम आइसोलेट हैं। 22 मरीज का इंदौर, भोपाल जैसे शहर में इलाज चल रहा है। होम आइसोलेट मरीजों पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। डिस्ट्रिक कोविड कमांड सेंटर से इन मरीजों से लगातार वीडियो कॉलिंग के माध्यम से उनका हालचाल भी पूछा जाता है।

पीपीई किट में था अमला
कोविड 19 को लेकर जारी गाइड लाइन के तहत ही अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पूरी कराई गई। शव की पूरी तरह पैकिंग की गई। वहीं परिजनों को पीपीई किट पहनाई गई, नपा के अमले ने भी पीपीई किट पहनी, फिर अंतिम संस्कार किया गया।

सावधानी बरतें, बुजुर्ग भीड़ में जाने से बचे
रोग निगरानी समिति के प्रभारी सत्येंद्र रघुवंशी का कहना है कि ठंड में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा हो जाता है। इसलिए बुजुर्ग भीड़ में जाने से बचे, वहीं मास्क का इस्तेमाल और सोशल डिस्टेंस बनाएं रखें।

रेफर किया पर नहीं ले गए
सीएमएचओ पी बुनकर का कहना है कि संक्रमित पहले से ही बीमार था, रेफर किया गया था, लेकिन परिजनों ने इंकार कर दिया। इस वजह से अस्पताल में ही इलाज चल रहा था। कोविड गाइड लाइन के मुताबिक ही अंतिम संस्कार किया गया है।

मौत का कारण... अन्य बीमारी की वजह से इम्युनिटी कमजोर हुई
62 वर्षीय बुजुर्ग बांसखेड़ी के रहने वाले थे, 2 नवंबर को जिला अस्पताल भर्ती किया गया था। इससे पहले निजी अस्पताल में इलाज चला। शुगर के अलावा बीपी, किडनी और फेफड़ों में पहले से ही संक्रमण था। इस वजह से ऑक्सीजन लगाने के बाद भी सांस लेने में दिक्कत आ रही थी, ऐसी स्थिति में भी ऑक्सीजन सैचुरेशन 85 से ज्यादा नहीं हो पा रहा था, यही स्थिति वेंटीलेटर पर बनी हुई थी। गुरुवार सुबह अस्पताल प्रबंधन ने परिजनों का बुलाकर पूरी स्थिति बताई। हालांकि कुछ समय बाद ही उनकी मौत हो गई।
मानस भवन समिति का एक वाहन स्टार्ट ही नहीं हुआ
मृतक का शव अंतिम संस्कार के लिए ले जाने के लिए मानस भवन समिति से शव वाहन मंगाया गया, परिजनों ने कहा कि आने वाला ही है, इसलिए शव को बाहर लाकर रख दिया। लेकिन पता चला कि वाहन स्टार्ट ही नहीं हुआ, आधा घंटे तक ड्राइवर परेशान होता रहा। इसके बाद दूसरा वाहन को सैनिटाइज करके लाया गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser