पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समस्या:100 फीट चौड़ी रोड पर वाहनों को तिरछा खड़ा कर की जा रही लाेडिंग-अनलाेडिंग

गुना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगरपालिका ने शहर की सबसे अच्छी सड़क पर बार-बार अतिक्रमण होने से बिगड़ती है व्यवस्था
  • दोनों ओर अतिक्रमण व कारोबार चलने से दुर्घटना का भी बना रहता है अंदेशा

शहर की प्रमुख सड़क के किनारे प्रमुख सड़कों पर अतिक्रमण और सड़क पर वाहनों को आडा-तिरछा खड़ा कर लोडिंग व अनलोडिंग कर कारोबार करने से यातायात व्यवस्था फिर बिगड़ती जा रही है। हाल ही में एबी रोड किनारे से नगरपालिका ने बड़े पुल के आगे जूतों व कपड़ों की दुकान लगाने वाले को हटाया गया था। लेकिन अब फिर यह दुकानदार यहां तार फेसिंग के आगे खड़े होने लगे हैं।

वहीं सड़क किनारे मटकों की दुकान भी संचालित की जा रही है। जिससे आए दिन यातायात बाधित होता है। रेलवे चौराहे पर रखे मटकों से कई बार यातायात अस्त-व्यस्त होता है। क्योंकि गर्मियों में यह भीड़ काफी बढ़ गई है। लोग मटके खरीदने लगातार आ जा रहे हैं।

गायत्री मंदिर से नानाखेड़ी तक जाने वाली 100 फीट चौड़ी सड़क पर वाहनों को खड़ा करके मरम्मत और लोडिंग अनलोडिंग से दुर्घटना का खतरा बना हुआ है, लेकिन बेरोकटोक कारोबार चल रहा हैं। वहीं नानाखेड़ी क्षेत्र में भी एबी रोड पर ऐसा नजारा देखने को मिला।

पूर्व में यहां रेत के ढेर लगाकर कारोबार किया जाता था लेकिन अब यहां पुन: वाहनों की सड़क किनारे आड़े खड़े कर दिया जाते हैं। जिससे हालात जस के तस बन गए हैं। जिससे यह प्रमुख सड़क एक फिर अतिक्रमण के चपेट में आ रही है।

वहीं इस बाजार क्षेत्र में भी कई 30 से 40 फीट की सड़क अतिक्रमण से संकरी होकर 10 से 15 फीट की रह गई है। नपा और यातायात विभाग का अमला अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई तो करता है लेकिन अगले ही दिन दुकानदार फिर सड़क पर सामान रख देते हैं।

पैदल चलने वालों को होती है परेशानी : सड़क पर अतिक्रमण कर कारोबार होने से न तो पैदल चलने वालों अौर न ही वाहन चालकों के लिए जगह बची है। फुटपाथ तो कहीं नजर ही नहीं आता है। यह स्थिति दिनभर रहती है। पीक ओवर्स में शहर के कई क्षेत्रों में जाम की स्थिति बनती है।

विभागों के जिम्मेदार अफसर भी इन मार्गों से गुजरते हैं लेकिन यातायात सुधारने के लिए कोई ठोस पहल नहीं करते। यातायात विभाग का अमला अतिक्रमण हटाने के लिए बजाय प्रमुख चौराहों पर जाम से निपटने या ट्रैफिक संभालने में ही जुटा रहता है।

खबरें और भी हैं...