• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • Minister Pradyuman Tomar Asked The Woman To Get A Pension, The Woman Said Never Got It; Angry People Surrounded The Minister At The Ration Shop

प्रभारी मंत्री के दौरे पर वृद्धा पेंशन की खुली पोल:मंत्री प्रद्युम्न तोमर ने महिला से पूछा पेंशन मिलती है, महिला बोली- कभी नहीं मिली; राशन की दुकान पर नाराज लोगों ने मंत्री को घेरा

गुना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राशन की दुकान पर लोगों ने प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को घेर लिया - Dainik Bhaskar
राशन की दुकान पर लोगों ने प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को घेर लिया

गुना। जिले के प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के सामने उस समय अजीबो-गरीब स्थिति बन जब एक महिला के घर का नुकसान देखते समय उन्होंने महिला से पेंशन के बारे में पूछा। महिला ने तपाक से जवाब दिया की कोई पेंशन नहीं मिल रही है। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों को तत्काल पेंशन शुरू करने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री गुना में भारी बारिश से हुए नुकसान को देखने पहुंचे थे। इधर राशन की दुकान पर राशन न मिलने से लोग भड़क गए और मंत्री को घेर लिया। काफी समझाइश और आश्वाशन के बाद उन्हें जाने दिया।

शुक्रवार देर रात प्रभारी मंत्री जिले के दौरे पर पहुंचे। शनिवार को सुबह उन्होंने बढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। इस दौरान वे कैंट, गोविंद गार्डन, भगत सिंह कॉलोनी में पहुंचे। कैंट आयकर भवन के सामने स्थित राशन की दुकान पर उन्होंने खाद्यान्न का वितरण किया। इसी दौरान वहां एक महिला मथुरा बाई ने उन्हें बारिश में गिरे अपने घर के बारे में बताया। मंत्री महिला को लेकर उसके घर पहुंच गए। इस दौरान रास्ते मे उन्होंने महिला से पेंशन के बारे में पूछा। इस पर महिला ने जवाब दिया की पेंशन नहीं मिलती। शुक्रवार को हुई बारिश में मथुरा बाई का घर गिर गया। एक दूसरे कमरे में नीचे से जमीन उखाड़कर पानी घुसा। मथुरा बाई ने बताया की बमुश्किल वह घर से निकल पायी। चरों तरफ पानी ही पानी था। मोहल्ले के लोगों ने रात में उसको शरण दी। प्रभारी मंत्री ने तत्काल CMO को बुलाकर महिला की पेंशन शुरू करने के निर्देश दिए। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने गोविन्द गार्डन, भगत सिंह कॉलोनी में हुए नुक्सान का जायजा लिया। बेघर हुए लोगों के लिए खाने और रहने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। साथ ही जल्द से जल्द सर्वे कर हुए नुक्सान का मुआवजा देने की बात भी कही।

प्रभारी मंत्री ने पूर्व CM कमलनाथ के ग्वालियर और अन्य जिलों के दौरे को लेकर कहा की जब वे CM थे और तब चम्बल में बाढ़ आयी थी, तब उन्होंने चम्बल में जाने की जरुरत महसूस नहीं की। अब जब उनकी कुर्सी चली गयी, तब सिर्फ कुर्सी के लिए उड़नखटोले से जा रहे हैं। थोड़ा सा साहस करो, चम्बल के पूरे इलाकों में पार्वती के किनारे उन गांव में जरा जाकर तो देखो।

राशन दुकान पर मंत्री को घेरा
मथुरा बाई के घर से वापस आते समय राशन दुकान पर नागरिकों ने प्रभारी मंत्री को घेर लिया। दरअसल अन्न उत्सव के लिए उपभोक्ताओं की सूची बनाई गयी थी। उसी के अनुसार 200 लोगों को बुलाया गया था। लेकिन बाकी लोग भी पहुँच गए। ऐसे में दुकान संचालक ने सबसे पहले उन 200 लोगों को राशन देने की बात कही। बाकी लोगों से मना कर दिया। इसके बाद लोग भड़क गए। उधर से निकल रहे प्रभारी मंत्री को उन्होंने घेर लिया। मंत्री के सभी को राशन देने के आश्वाशन देने के बाद ही उन्हें वहां से लोगों ने जाने दिया।

खबरें और भी हैं...