• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • Mohar Singh Pardi Of Guna Has Criminal Cases Registered Against Him In Several States; Coming Out On Bail Is Doing Devotion To The Mother

अपराधों को छोड़ माता की भक्ति की ओर:गुना के मोहर सिंह पारदी पर कई राज्यों में दर्ज हैं आपराधिक मामले; जमानत पर बाहर आकर कर रहा मां की भक्ति

गुना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के हड्डीमील पर मोहर सिंह पारदी ने मोहल्ले के लोगों के साथ मिलकर माता की झांकी लगाई है। - Dainik Bhaskar
शहर के हड्डीमील पर मोहर सिंह पारदी ने मोहल्ले के लोगों के साथ मिलकर माता की झांकी लगाई है।

भक्ति और आस्था का मार्ग हमेशा लोगों को सही मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है। फिर वह चाहे कोई अपराधी हो या साधु। श्रद्धा और भक्ति हमेशा अच्छे कार्य करने के लिए प्रेरित करते हैं। कुछ ऐसा ही उदाहरण इतिहास में वाल्मिकी के रूप में दर्ज है। जिन्होंने भगवान श्रीराम के जीवन चरित्र को रामायण रूप में उतारा। ऐसे उदाहरण समय-समय पर समाज में देखने को मिलते रहे हैं। कुछ ऐसी ही मिसाल गुना के पारदी समुदाय से ताल्लुक रखने वाले मोहर सिंह ने भी पेश की है।

मोहर सिंह पारदी को गुना सहित कई राज्यों की पुलिस नाम से जानती है। उसके नाम से कई अपराध दर्ज हैं और वह साल 2018 से गुना की जेल में विचाराधीन कैदी के रूप में बंद था। मोहर सिंह की मानें तो जेल में रहने के दौरान उसने संकल्प लिया था कि अगर माता रानी उसे समस्त उलझनों से छुटकारा दिला देंगी तो वह प्रत्येक वर्ष माता की झांकी लगाएगी।

मोहर सिंह को फिलहाल आपराधिक प्रकरणों में जमानत मिल चुकी है और वह अपने घर वापस लौट चुका है। हालांकि मोहर सिंह ने अपना पुश्तैनी गांव खैजरा चक छोड़ दिया है और वह गुना शहर में ही अपने निवास हड्डी मिल पर रहा है। मोहर सिंह ने मां अम्बे से की गई मनोकामना सफल होने पर झांकी लगाने का निर्णय लिया है। उसका संकल्प है कि वह हर वर्ष हड्डी मील क्षेत्र में झांकी लगाएगा। इससे पहले वह जेल में रोजाना माता रानी से प्रार्थना करता रहा कि उसे अपराध के दलदल से छुटकारा दिलाए।

मोहर सिंह इच्छा है कि वह समाज में सभ्य व्यक्ति के रूप में जीवन व्यतीत करे, अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाए। ताकि वह भी अच्छे नागरिक की तरह विकास की मुख्यधारा से जुड़ सके। बता दें कि मोहर सिंह ने साल 2018 में पुलिस के सामने आत्मसर्मपण कर दिया था। तब उसके नाम से हत्या, डकैती, लूट सहित अनगिनत मामले दर्ज थे और पुलिस जगह-जगह उसे तलाश कर रही थी। मोहर सिंह की मानें तो उसे माता रानी की कृपा से अच्छा नागरिक बनने की प्रेरणा मिली है और अब वह जीवन पर्यंत अपराध का रास्ता छोड़कर भलाई के रास्ते पर चलेगा।