पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • More Than 75% Came In The General Promotion, Now Absent In The Exam; The Hanging Sword Of Being Supplementary Or Spreading If The Exam Is Not Given Despite Filling The Form

फैल हो सकते हैं बोर्ड परीक्षा में अनुपस्थित छात्र:जनरल प्रमोशन में आये थे 75% से ज्यादा, अब परीक्षा में रहे अनुपस्थित; फॉर्म भरने का बावजूद परीक्षा नहीं देने पर फैल होने की लटकी तलवार

गुना16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
उत्कृष्ट विद्यालय में बोर्ड प� - Dainik Bhaskar
उत्कृष्ट विद्यालय में बोर्ड प�

गुना। जनरल प्रमोशन को चुनौती देकर परीक्षा में अनुपस्थित रहे 24 छात्रों का एक साल खराब हो सकता है। अब उनका मूल्यांकन इस परीक्षा के आधार पर ही किया जाएगा। शिक्षण विभाग ने उन्हें फॉर्म भरने के बाद भी नाम वापस लेने का समय दिया था। लेकिन जिन छात्रों ने परीक्षा में बैठना तय किया था, अब उनका परिणाम इस परीक्षा के आधार पर ही जारी किया जाएगा। अगर वे इस परीक्षा में अनुपस्थित रहते हैं तो उन्हें फैल माना जायेगा।

10वीं-12वीं की विशेष बोर्ड परीक्षा सोमवार से आरंभ हो गई है। परीक्षा के लिए गुना उत्कृष्ट स्कूल सहित 5 केंद्र बनाए थे। जहां 129 छात्रों को परीक्षा में शामिल होना था, लेकिन 24 छात्र अनुपस्थित रहे। परीक्षा से गायब रहे छात्रों का अब परिणाम बिगड़ सकता है। अगर, वे दो प्रश्न पत्रों में गैर हाजिर रहेंगे तो उनको फैल कर दिया जाएगा। इससे उनकी साल भी बर्बाद हो सकती है। अपने रिजल्ट को चुनौती देने और फॉर्म भरने के बाद भी शिक्षा विभाग ने एक मौका दिया था कि वे अपना फॉर्म वापस ले सकते हैं।

दरअसल, ये परीक्षा उन छात्रों के लिए रखी थी, जिन्होंने बोर्ड के मूल्यांकन को चुनौती दी है। क्योंकि कोरोना अवधि में माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा परीक्षाएं ना करवाते हुए सभी छात्रों को उत्तीर्ण घोषित कर एक निर्धारित नीति अनुसार ग्रेड दी गई है। इस फार्मूले से प्राप्त अंको से अधिक अंको की उम्मीद करने वाले छात्रों ने फिर से परीक्षा कराने जाने के लिए फार्म भरे थे। इन छात्रों के लिए 5 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा आरंभ हो गई है। कक्षा 10 की परीक्षा 6 सितंबर से 15 सितंबर तक औरकक्षा 12 की परीक्षा 6 सितंबर से 21 सितंबर तक चलेगी। सोमवार को हाई स्कूल और हायर सेकंडेरी परीक्षा विकास खंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालयों में रखी गई। हाई स्कूल के 53 दर्ज छात्रों में से 44 उपस्थित रहे जबकि 9 छात्र अनुपस्थित रहे। हायर सेकंडेरी के 76 दर्ज छात्रों में से 61 छात्र उपस्थित रहे। परीक्षा केंद्रों का जायजा लेने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी चन्द्रशेखर सिसोदिया पहुंचे। उनके द्वारा केंद्र निरीक्षण के लिए गठित दलों ने भी जायजा लिया।

अनुपस्थित रहे तो माना जायेगा फैल

दरअसल, बोर्ड ने पिछली परीक्षा के आधार पर छात्रों का मूल्यांकन किया है। गुना में 20 हजार से ज्यादा छात्र बोर्ड परीक्षा में बैठते हैं। कोरोना की वजह से सभी को उत्तीर्ण कर दिया है। हालांकि कई छात्रों को उनकी उम्मीद से कम अंक प्राप्त हुए हैं। इस वजह से करीब 129 छात्रों ने अपने परीक्षा परिणाम को बेहतर नहीं माना और फिर से परीक्षा देने के लिए फार्म भरे थे। इन छात्रों में कई ऐसे हैं, जिनको 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त हुए हैं। लेकिन वे इस परीक्षा में शामिल नहीं हुए हैं। इस वजह से इन छात्रों की साल बर्बाद हो सकती है। क्योंकि फिर से परीक्षा देने वालों की उत्तीर्ण वाली अंक सूची रोक दी जाएगी, उनको परीक्षा के आधार पर अंक दिए जाएंगे। अगर, वे परीक्षा से इसी तरह गायब रहे तो फेल हो जाएंगे। क्योंकि शिक्षा विभाग ने उन्हें एक और मौका दिया था कि उन्होंने अगर फॉर्म भी भर दिया है तो वे अपना नामांकन वापस ले सकते हैं। नामांकन वापस नहीं लेकर वे अगर परीक्षा में बैठते हैं तो इस परीक्षा के आधार पर ही उनका परिणाम तय होगा। पुराण परिणाम नहीं माना जायेगा।

उत्कृष्ट स्कूल के प्रिंसिपल आसिफ खान का कहना है कि बोर्ड की विषेष परीक्षा आरंभ हो गई है। जिन छात्रों ने अच्छे अंक लाने के लिए फार्म भरे थे उनमें 10वीं के 53 और 12वीं के 76 विद्यार्थी शामिल हैं। लेकिन बच्चों ने इस परीक्षा को गंभीरता से नहीं लिया। उनका परिणाम इस परीक्षा से ही तैयार होगा। परीक्षा नहीं दी तो वे फैल हो जाएंगे।

खबरें और भी हैं...