पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • Mystic Asphalt Filling In The Cracks Of The ROB ... It Melts At 210 Degree Heat While The Common Asphalt Starts Coming Out Only At 45 Degree

निर्माण कार्य:आरओबी की दरारों में भर रहे मिस्टिक डामर... यह 210 डिग्री गर्मी पर पिघलता है जबकि आम डामर 45 डिग्री में ही निकलने लगता है

गुनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एबी रोड आरओबी की एक साइड पर डामर की आखिरी परत डालने का काम चल रहा है। डामर की आम सड़क बनाने से यह काम पूरी तरह से अलग है। इसमें मिस्टिक डामर का प्रयोग होता है जो 210 डिग्री गर्म करने पर पिघलता है। 170 डिग्री पर यह जमने लगता है। इसलिए मिश्रण तैयार होने के 10 मिनट के भीतर ही इसे बिछा देना होता है, नहीं तो यह किसी काम का नहीं रहता। पूरी प्रक्रिया में बस डामर और गिट्‌टी का मिश्रण बनाने के लिए ही मशीन का इस्तेमाल होता है। इसकी वजह यह है कि यह मिश्रण बहुत उच्च ताप पर तैयार होता है। एक खेप तैयार होने में ही ढाई घंटे तक लग जाते हैं। इसमें डामर के साथ गिट्‌टी का चूरा, मोटी और मध्यम आकार वाली गिट्‌टी मिलाई जाती है। इस मिश्रण को हाथ गाड़ी में डालकर मरम्मत वाली जगह पर लंबी-लंबी पटि्टयों में डाला जाता है। 
लकड़ी के बेंत से की जाती है कुटाई
डामर की परत को समतल करने के लिए रोलर का इस्तेमाल नहीं होता। यह काम हाथ से किया जाता है। लकड़ी के बेंत से कूट-कूटकर इसे समतल करते हैं। इस प्रक्रिया के दौरान मिश्रण के बीच फंसी हवा को भी निकाला जाता है। अगर हवा रह जाती है तो मजबूती नहीं रहती।

इस डामर की खासियत 
जानकारों ने बताया कि आम सड़कों का डामर 44-45 डिग्री तापमान होने पर ही पिघलने लगता है। जबकि मिस्टिक डामर के साथ ऐसा नहीं होता। यही वजह है कि यह सख्ती के साथ जमा रहता है। यह दरारों को पूरी तरह भर देता है और उसमें से पानी का रिसाव नहीं हो पाता।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए उपलब्धियां ला रहा है। उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। आज कुछ समय स्वयं के लिए भी व्यतीत करें। आत्म अवलोकन करने से आपको बहुत अधिक...

और पढ़ें