धर्म / लोगों ने लाइव देखा भगवान शांतिनाथ का महामस्तकाभिषेक

X

  • इस दौरान श्रद्धालुओं ने सुबह 6 बजे से फेसबुक लाइव पर भगवान शांतिनाथ, कुंथुनाथ एवं अरहनाथ भगवान महामस्तकाभिषेक देखा।

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

गुना. लॉकडाउन के कारण हजारों वर्षों के इतिहास में पहली बार भगवान शांतिनाथ के जन्म, तप और मोक्ष कल्याणक पर आयोजित होने वाला सामूहिक महामस्तकाभिषेक में श्रद्धालु शामिल नहीं हो सके। 
 इस दौरान श्रद्धालुओं ने सुबह 6 बजे से फेसबुक लाइव पर भगवान शांतिनाथ, कुंथुनाथ एवं अरहनाथ भगवान महामस्तकाभिषेक देखा। दरअसल लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर धार्मिक स्थलों पर पाबंदी है। ऐसे में बजरंगगढ़ कमेटी द्वारा कार्यक्रम को कराने का जिम्मा दो स्थानीय पुजारियों को सौंपा गया था। वहीं इसका लाइव प्रसारण फेसबुक पर कराया गया। जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने फेसबुक लाइव पर भगवान का महामस्तकाभिषेक देखा। तीर्थक्षेत्र कमेटी के अध्यक्ष इंजी. एसके जैन एवं मंत्री प्रदीप जैन ने बताया कि कोरोना महामारी के शीघ्र समाप्त होने की भावना के साथ भगवान की बृहद शांतिधारा की गई। इसको लेकर कमेटी द्वारा विभिन्न सोशल नेटवर्किंग साइटों के माध्यम से लगभग समाज के हर व्यक्ति के पास फेसबुक लाइव की लिंक भेजी गई।

वर्ष में दो बार होता है प्रतिमा का महामस्तकाभिषेक
प्राचीन भगवान शांतिनाथ की 18 फीट की प्रतिमा का महामस्तकाभिषेक वर्ष में दो बार ही आयोजित होता है। यह प्रथम महामस्तकाभिषेक नववर्ष को एवं द्वितीय महामस्तकाभिषेक ज्येष्ठ कृष्ण शुक्ल चौदस को भगवान शांतिनाथ के जन्म, तप और मोक्ष कल्याणक के विशेष मौके पर आयोजित किया जाता है। यहां जैनाचार्य विद्यासागर महाराज के शिष्य मुनि पुंगव सुधा सागर महाराज की प्रेरणा से यहां प्रतिवर्ष नूतन वर्ष के स्वागत बेला में भगवान का महामस्तकाभिषेक होने की परंपरा शुरू करवाई गई थी। इन दोनों अवसरों पर हजारों की संख्या में गुना सहित आसपास से श्रद्धालु पहुंचते थे। इसके अलावा मंदिर पर प्रतिदिन मूलनायक भगवान का चरणाभिषेक एवं भगवान की शांतिधारा में सैकड़ों श्रद्धालु गुना, आरोन से पहुंचते थे, लेकिन पिछले दो महीने से लगे लॉकडाउन के कारण श्रद्धालु भगवान के दर्शन करने से भी वंचित हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना