पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नाराजगी:मैदानी अमला-आंखों के सामने जंगल कटता है रेंजर बाेले-अब ऐसा हो तो नामजद कार्रवाई करें

गुना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कार्रवाई नहीं होने पर 15 बीट गार्ड, 3 डिप्टी रेंजर सामूहिक छुट्टी का आवेदन देने पहुंचे

बमोरी में जंगल की कटाई और कब्जों को लेकर वन विभाग के मैदानी अमले के भीतर की नाराजगी सामने आने लगी है। करीब 15 बीट गार्ड और 3 डिप्टी रेंजर मंगलवार को सामूहिक अवकाश पर जाने की तैयारी में थे। इनमें से ज्यादातर वे थे जिन्होंने सोमवार को पाटन में बैठक के दौरान हुए विवाद, धक्का मुक्की और हमलों को झेला था। इनका कहना था कि लोग हमारी आंखों के सामने जंगल काटकर जमीनों पर कब्जा कर रहे हैं। इसके बावजूद हम उन पर कोई कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं। इसी को लेकर वे रेंजर को आवेदन देने की तैयारी में थे। इसके अलावा पाटन की घटना को लेकर वे बमोरी थाने में शिकायत दर्ज कराना चाहते थे। हालांकि देर शाम को रेंजर ने आकर उन्हें समझाइश दी। जहां समझाइश दी, वहीं कटाई : सूत्रों ने बताया कि सोमवार को पाटन में हुई बैठक में जंगल न कटने देने पर बनी सहमति के बावजूद हालात नहीं बदले। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि इस इलाके के जंगलों में मंगलवार को भी कुल्हाड़ी चलीं। बीट गार्डों ने बताया कि बीते एक माह के दौरान साफ की गई जमीन पर अब फसल की बोवनी कर दी गई है।

इस तरह कब्जों से कुछ भी हासिल नहीं होगा, उलटे कानूनी झमेलों में फंस जाओगे : कलेक्टर
उधर कुशेपुर और अमरोद में कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम व एसपी राजेश कुमार सिंह ने ग्रामीणों से बात की। कलेक्टर ने कहा कि वनाधिकार अधिनियम के तहत पट्टे की प्रक्रिया तय है। जो यह साबित कर पाएगा कि वह वन भूमि पर 2005 या उससे पहले से काबिज है, उसे ही पात्र माना जाएगा। गैर आदिवासियों को 75 साल से कब्जे का सबूत देना होगा। इस तरह कब्जा करने से कुछ भी हासिल नहीं होगा। उलटे कानूनी पचड़ों में फंसने का खतरा है। आपसी दुश्मनी भी बढ़ेगी, जिसके नतीजे आगे जाकर गंभीर होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि जंगल काटेंगे तो हम भी हाथ पर हाथ रखे नहीं बैठेंगे। सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पाटन के बाद सबक : टाइम से हुई बैठक, कई लोग किए शामिल
पाटन की घटना से सबक लेते हुए कुशेपुर की मीटिंग में 4 गांवों के ज्यादा से ज्यादा लोगों को शामिल किया गयाा। जबकि पाटन में सिर्फ चुनिंदा 5-6 लोग बुलाए थे, जिससे बाकी लोगों में शंका पैदा हुई। दूसरे यहां मीटिंग बिल्कुल ठीक समय पर चालू हो गई। कलेक्टर व एसपी सुबह साढ़े 10 बजे पहुंच गए थे।

रेंजर ने कहा - भागने से काम नहीं चलेगा, अपना कर्तव्य निभाओ
बमोरी स्थित रेंजर निवास में नाराज बीट गार्ड और तीन डिप्टी रेंजरों को बंद कमरे में बिठाकर रेंजर ने समझाइश दी। बैठक के बाद उन्होंने कहा कि अगर कोई कानून तोड़ रहा है तो उस पर कार्रवाई होगी। बीट गार्ड हों या डिप्टी रेंजर, सभी को यह अधिकार है कि वे ऐसे लोगों पर नामजद कार्रवाई करें। इससे पहले दोपहर 3 बजे तक तमाम बीट गार्ड व तीन डिप्टी रेंजर आवेदन देने के लिए एकत्रित हो गए थे। वे रेंज ऑफिस के अंदर ही रहे। वे बमोरी थाने जाना चाहते थे लेकिन थाना प्रभारी, कलेक्टर व एसपी के साथ मीटिंग में थे। इसी दौरान शाम को 6 बजे रेंजर श्री चौपड़ा पहुंच गए। उन्होंने समझाइश देकर मामला शांत कर दिया।
अब दिखाई जाएगी सख्ती
रेंजर अजय त्रिपाठी ने साफ कहा है कि अब अगर कोई जंगल काटता या उस पर कब्जा करता मिलेगा तो नामजद कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले कुशेपुर में जंगल कटाई व कब्जे के मुद्दे पर हुई दूसरी बैठक में कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम व एसपी राजेश कुमार सिंह ने भी यही संकेत दिए। साथ ही बताया कि अब गांव-गांव में प्रोजेक्टर के माध्यम से लोगों को यह बताया जाएगा कि वनाधिकार पट्टे के लिए कौन-कौन पात्र है और कौन नहीं। इसमें 2005 या उससे पहले सेटेलाइट नक्शे दिखाए जाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser