पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

9 लोग झुलसे:पति-पत्नी के झगड़े को सुलझाने लोग जुटे तभी लगी आग, पर कैसे लगी, ये बताने को काेई तैयार नहीं

गुना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिदोरिया गांव में हादसा, 9 लोग झुलसे, 8 गंभीर, भोपाल रेफर

राघौगढ़ के बिदोरिया गांव में घर में आग लगने से 9 लोग झुलस गए जिनमें से 8 को रेफर किया गया है। इसमें से 3 की हालात गंभीर बताई जा रही है। यह घटना मंगलवार रात की है, लेकिन अब तक यह पता नहीं चला कि आग कैसे लगी और इतनी ज्यादा संख्या में लोग इसकी चपेट में कैसे आ गए? पुलिस खुद हैरान है, उसने घटना स्थल का भी मुआयना किया है, मौके से जली हुई वस्तुओं को जब्त किया गया है। इसकी फोरेंसिक जांच कराई जाएगी। वहीं जितने भी लोग आग की चपेट में आए हैं, किसी ने भी अपने कथन में आग कैसे लगी? कोई स्थिति साफ नहीं कर पाया है। बताया जाता है कि दंपती के विवाद के बाद महिला पक्ष के लोग उसके पति को समझाने के लिए आए थे। इसी दौरान यह घटना हो गई। राघौगढ़ टीआई मदन मोहन मालवीय का कहना है कि आग में जो लोग झुलसे हैं, उनका इलाज चल रहा है।
पति-पत्नी के बीच हुए विवाद को सुलझाने एकत्रित हुए थे लोग
दरअसल बिदोरिया गांव में जितेंद्र केवट का अपनी पत्नी से विवाद हुआ था। पति महिला को तंग करता था। इससे उसने मायके पक्ष को सूचना दे दी। महिला के मायका जामनेर के गांव मंशाखेड़ी में है। वहां से 4 लोग मंगलवार शाम गांव पहुंचे। इन सभी ने एकत्रित होकर पति को समझाने की कोशिश की। घर से लगी दुकान भी थी, यहां भी कई लोग बैठे थे। इसी दौरान तेज लपटे उठीं, जिसमें 9 लोग झुलस गए। जिसमें जितेंद्र केवट, उसकी पत्नी, बच्चे के अलावा मायके पक्ष से आए 3 लोग आग में झुलसे। पुलिस का कहना है कि आग में महिला के मायके पक्ष के अलावा ससुराल पक्ष के लोग भी झुलसे हैं। इस वजह से कोई भी अपने बयानों में किसी पर भी आरोप-प्रत्यारोप नहीं लगा रहा है। इससे मामला पेंचीदा हो गया है।

खबरें और भी हैं...