गुना में मर्डर के आरोपियों को उम्रकैद:खेत पर काम कर रहे व्यक्ति की कर दी थी हत्या; एक आरोपी की हो चुकी है मौत

गुना10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

जिले में वर्ष 2015 में हुई एक हत्या के मामले में अदालत ने दो आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। तीन आरोपियों में से एक की मौत हो चुकी है। अदालत ने आरोपियों पर जुर्माना भी लगाया है। आरोपियों ने खेत पर काम कर रहे व्यक्ति को फरसा, लुहाँगी से मारकर घायल कर दिया था। कुछ देर बाद ही व्यक्ति की मौत हो गयी थी। सप्तम अपर सत्र न्यायाधीश सचिन घोष ने गुरुवार को अपना फैसला सुनाया।

जिला लोक अभियोजक मनोज पलिया ने बताया कि मामला वर्ष 2015 का है। 5 नवंबर को रमगढ़ा गांव में रहने वाले बलवीर अपने खेत पर थे। इसी दौरान गांव के ही बंटी उर्फ राय सिंह, भूरा उर्फ राज कुमार, चैनू उर्फ चैन सिंह एक राय होकर उसके खेत पर पहुंचे। सभी के हाथों में फरसा, लुहाँगी थे। उन्होंने खेत पर पहुंचकर बलवीर के साथ मारपीट करने शुरू कर दी। बलवीर के खेत पर काम करने वाले एक व्यक्ति ने उसके भाई दुर्जन सिंह को जानकारी दी।

उसका भाई अपने साथी दिलीप के साथ खेत पर पहुंचा, तब उन्होंने पूरी घटना देखी। तब तक आरोपियों ने बलवीर को मार-मार कर उसे घायल कर दिया था। कुछ देर बाद ही बलवीर की मौत हो गयी थी। सिर से अधिक खून बह जाने के कारण उसने दम तोड़ दिया। दुर्जन की शिकायत पर पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया था। 5 वर्ष चली सुनवाई के बाद अदालत ने तीनों आरोपियों को हत्या का दोषी माना। कोर्ट ने तीनों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। साथ ही आरोपियों को 1-1 हजार रुपये के अर्थदंड से भी दंडित किया। मामले में एक आरोपी चैन सिंह की मौत घटना के कुछ दिन बाद ही हो गयी थी। मामले में शासन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक मुकेश अवस्थी ने की।

खबरें और भी हैं...