पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खतरा, जिम्मेदारों का ध्यान नहीं:साडा काॅलोनी में बनी पेयजल सप्लाई की पुरानी टंकी हुई क्षतिग्रस्त, लोगों ने की हटाने की मांग

राघौगढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हुए पिलरों से दिख रहे सरिए
  • लोगों ने जताई ढहने की आशंका

कस्बे के साडा काॅलोनी में बनी पेयजल सप्लाई की पुरानी टंकी क्षतिग्रस्त हालात में है। उक्त टंकी साडा काॅलोनी में बनी हुई। इसके पिलर जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं, वहीं प्लास्टर उखड़कर जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो गया है। क्षतिग्रस्त टंकी से आसपास के लाेगों काे इसके धराशायी होने का खतरा बना रहता है। लोगों का कहना है कि इस क्षतिग्रस्त टंकी को हटाया जाए। उक्त टंकी यदि अचानक गिरती है ताे इससे जानमाल का नुकसान होने की आशंका है। यह टंकी रिहायशी इलाके में बनी हुई है। वहीं इसके आसपास लोगों के निवास बने हुए हैं। इससे लोगों को आवागमन इसके नजदीक से होता रहता है। टंकी के पिलर का प्लास्टर जगह -जगह से उखड़कर गिर गया हैं। वहीं इसके पिलरों में लगे सरिए भी उसमें से दिखाई देते हैं। जगह-जगह से क्षतिग्रस्त होकर दरारें पड़ गई हैं।

स्थानीय नागरिक नीरज सोनी व वेद प्रकाश भार्गव ने बताया कि उक्त टंकी लगभग दाे वर्ष से क्षतिग्रस्त हालत में है अाैर दिन ब दिन जर्जर हाेती जा रही है। इसे सुरक्षित तरीके से गिरा दिया जाना चाहिए। ताकि किसी भी प्रकार अनहोनी की आशंका न रहे। पेयजल टंकी जलापूर्ति के लिए बनाई गई थी, लेकिन अब दूसरी टंकी यहां बन चुकी है जिससे पानी सप्लाई होता है।

उक्त टंकी पुरानी और जर्जर होने के कारण गिरने के कगार पर है। कभी भी पेयजल टंकी गिर सकती है, जिसको लेकर लोगों में अनहोनी अंदेशा बना हुआ है। श्री सोनी ने बताया कि वे करीब दो साल से इस संबंध में नपा सीएमओ सहित तहसीलदार व अन्य अधिकारियों को अवगत कराते हुए आ रहे हैं कि उक्त क्षतिग्रस्त टंकी को जल्द से जल्द हटवाया जाए। ताकि किसी प्रकार की अनहोनी से बचा जा सके। वहीं इस टंकी के पास ही पावर प्लांट लगाए जाने की भी तैयार चल रही है।

समस्या की ओर जिम्मेदार भी नहीं दे रहे हैं ध्यान
लोगों ने बताया कि टंकी के समीप ही लोगों के निवास बने हुए हैं। वहीं यहां कालोनी होने के कारण अनजान लोगों का आना जाना बना रहता है। प्रतिदिन लोगाें का आवागमन लगा रहता है। वही आबादी भूमि के समीप टंकी बनी होने से लोगों में अनहोनी का डर बना रहता है। टंकी पर लगी लोहे की रेलिंग भी जर्जर होकर टूट चुकी है।

लोगों ने पूर्व में उक्त टंकी को हटाए जाने की मांग की थी इसके बावजूद अधिकारियों ने नवीन टंकी बनवाने के बाद उक्त टंकी को हटाने पर कोई ध्यान नहीं दिया। लोगों का कहना है कि यदि प्रशासन ने इस और कोई कदम नहीं उठाया तो बड़ा हादसा हो सकता है।
टंकी काे जल्द किया जाएगा डिसमेंटल

उक्त टंकी जर्जर और क्षतिग्रस्त है। इसे उपयोग में नहीं लिया जा रहा है। इसे शीघ्र ही डिसमेंटल का कार्य कराया जाएगा, ताकि लोगों को किसी प्रकार की परेशानी न हो।
-अशोक कुमार पटेल, सीएमओ राघौगढ़ नगरपालिका

खबरें और भी हैं...