18 + वैक्सीनेशन:310 का रजिस्ट्रेशन कर सिर्फ 4.54 मिनट में बंद हुआ पोर्टल क्योंकि 1 मई का लक्ष्य इतना ही

गुना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना वैक्सीनेशन कराने मानस भवन पंहुची बुजुर्ग महिला दोपहर की गर्मी से परेशान होकर बंद गेट के बाहर ही बैठ गई। - Dainik Bhaskar
कोरोना वैक्सीनेशन कराने मानस भवन पंहुची बुजुर्ग महिला दोपहर की गर्मी से परेशान होकर बंद गेट के बाहर ही बैठ गई।
  • एक हजार से अधिक युवा ऐसे हैं जिन्होंने रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी की, लेकिन उन्हें सत्यापन पर्ची प्राप्त नहीं हो सकी

1 मई को शुरू होने वाले 18 + वालों को कोविड की सुरक्षा को लेकर लगने वाले टीकाकरण की तैयारियां बड़े जोर-शोर से की जा रहीं थी लेकिन पहले दिन सिर्फ 310 युवाओं का ही रजिस्ट्रेशन हो पाया है।

क्योंकि शासन स्तर से जिले के लिए 1 मई का यही लक्ष्य तय किया था। अगर इतनी कम संख्या में टीकाकरण होगा तो इसमें तो वैक्सीनेशन में तो कई साल लग जाएंगे क्योंकि जिले में 18 से 45 वर्ष की उम्र के लोगों की संख्या ही 6.80 लाख के लगभग है।

टीकाकरण के लिए युवा वर्ग लंबे समय से इंतजार कर रहा था, लेकिन अब उनकी बारी आई तो पहले दिन का ही लक्ष्य नाम मात्र का होने से उन्हें निराशा हाथ लगी। क्योंकि एक हजार से अधिक युवा ऐसे हैं जिन्होंने रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया तो पूरी कर ली थी, लेकिन उन्हें सत्यापन पर्ची प्राप्त नहीं हो सकी।

रजिस्ट्रेशन में ट्रैफिक इतना कि 4.54 मिनट में लक्ष्य पूरा : 18 से 45 वर्ष के युवाओं के टीकाकरण 1 मई से होने को लेकर बड़ी तैयारी की गईं थी। शुरु में तो स्वास्थ्य विभाग को लगा कि हजारों की संख्या में लोगों को टीका लगेगा लेकिन जब 28 अप्रैल को लक्ष्य आया तो मात्र 310 का था। इतना कम लक्ष्य और युवाओं के इंतजार के आगे सब फीका पड़ गया। बुधवार शाम 4 बजे रजिस्ट्रेशन के लिए पोर्टल खोला गया, यह 5 मिनट बंद ही बंद हो गया।

पहले से जिन युवाओं ऑनलाइन कतार में थे, जिन्होंने पहले डिटेल सबमिट की, उन्हें ही टीकाकरण के लिए ऑनलाइन मैसेज मिला। यानी 4.54 मिनट में ही 310 युवा रजिस्टर्ड हो गए।

2 दिन का 45 + का टीकाकरण रद्द किया
युवाओं के लिए शुरु होने वाले टीकाकरण को लेकर 45 + का टीकाकरण रद्द करना पड़ा। गुरुवार को जिले के 18 में से किसी भी केंद्र पर टीकाकरण नहीं हुआ। वहीं शुक्रवार यानी 30 अप्रैल को भी जिला मुख्यालय स्थित मानस भवन में होने वाला टीकाकरण नहीं हुआ। यह दोनों टीकाकरण रद्द करने के बाद 1 मई का टीकाकरण किया जाएगा। इसकी अगली तारीख तय नहीं।

वैक्सीन लगभग खत्म : जिला टीकाकरण अधिकारी एडी बिंचुरकर ने बताया कि जिले के ज्यादा केंद्रों पर वैक्सीन की संख्या शून्य बची है। हालांकि दावा किया जा रहा है कि जिले भर के केंद्रों पर 2600 डोज बचे हैं। पहले इन सभी डोज को जिला मुख्यालय एकत्रित करने की योजना थी, लेकिन टाल दी गई है। ग्वालियर से नई खेप शुक्रवार तक आ सकती है।

कौन सी वैक्सीन लगेगी तय नहीं
1 मई को युवाओं को कोविशील्ड या कोवैक्सीन लगेगी। इसके लेकर अब तक स्थिति साफ नहीं है। अधिकारियों का कहना है कि शुक्रवार तक ही तय हो सकेगा कि शनिवार को कौन सी वैक्सीन 18 से 45 उम्र के लोगों को लगाई जाएगी। यह सिर्फ जिला मुख्यालय स्थिति एक मात्र केंद्र मानस भवन में लगेगी। जिसमें जिले भर से जिन भी युवाओं ने रजिस्ट्रेशन कराएं हैं वह शामिल हो सकेंगे।

कब पूरी आबादी होगी कवर, तय नहीं
वैक्सीन की कमी की वजह से 4 माह में मात्र जिले भर में 1.22 लाख लोगों को ही टीका लग पाया है। अगर ऐसी रफ्तार रही तो सभी वर्ग के 7 से 8 लाख लोगों को कैसे सुरक्षा कवच मिलेगा। हालात यह हैं कि संक्रमण की वजह से लगातार मौतें हो रही हैं।

खबरें और भी हैं...