• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • Two Accused Caught Trying To Escape From Badarwas Towards Indore; The Interrogation Said – Murder Was Done With Complete Planning, There Was Complete Information About Shafiq Coming To Bohra Complex

बोहरा कॉम्प्लेक्स हत्याकांड:बदरवास से इंदौर की तरफ भागने की फिराक में धराये दो आरोपी; पूछताछ में बोले- पूरी प्लानिंग से की थी हत्या, शफीक के बोहरा कॉम्प्लेक्स आने की थी पूरी जानकारी

गुना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में आये हत्या के आरोपी रानू और बाबू - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आये हत्या के आरोपी रानू और बाबू

गुना। रविवार को हुए बोहरा काम्प्लेक्स हत्याकांड में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों उस समय पुलिस के हाथ जिस समय वे इंदौर भागने की फिराक में थे। पुलिस ने उन्हें हाईवे से गिरफ्तार किया है। दो आरोपी अभी भी फरार हैं जो पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं। पुलिस ने इनकी तलाश के लिए टीमें लगायी हैं। फरार आरोपियों पर एसपी ने 10-10 हजार का इनाम घोषित किया है।

रविवार सुबह 12 बजे के लगभग बोहरा काम्प्लेक्स में मुस्लिम समाज के जिला अध्यक्ष मोहम्मद शफीक काले को गोली मारी गयी थी। उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था। आपसी रंजिश में उनके ऊपर दो राउंड फायर किये गए थे। एक गोली उनकी पसली में लगी थी और दूसरी पैर में लगी थी। जिला अस्पताल में उपचार के दौरान उनकी मौत हो गयी थी जिसके बाद शहर में दहशत का माहौल बन गया था। अस्पताल परिसर में हजारों की संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग एकत्रित हो गए थे।

एसपी राजीव कुमार मिश्रा ने बताया की दोनों परिवारों की लम्बे समय से आपसी रंजिश थी। 3-4 दिन पहले भी दोनों के बीच मुंहवाद हुआ था। रविवार को मोहम्मद शफीक बोहरा काम्प्लेक्स में दांतों के डॉक्टर के पास इलाज कराने आये थे। आरोपियों को इसकी जानकारी पहले से ही थी। 4 वर्ष पूर्व मोहम्मद शफीक और पकडे गए आरोपी के पिता हनीफ खान के बीच मारपीट हुई थी, जिसके बाद से ही दोनों परिवारों में रंजिश चली आ रही थी। हनीफ ने मोहम्मद शफीक पर मारपीट का आरोप लगाया था।

पूरी प्लानिंग से आये आरोपी
पकडे गए आरोपियों ने पूछताछ में बताया की उन्हें पहले से पता था की मोहम्मद शफीक बोहरा काम्प्लेक्स आने वाले हैं। इसलिए पूरी प्लानिंग की गयी थी। दो लोग रानू और बाबू 2-3 अन्य लोगों के साथ डॉक्टर की क्लिनिक के बाहर पहुंचे। जब मोहम्मद शफीक बाहर आये तो पहले उनसे बहस हुई। यहीं उनके साथ मारपीट की और हाथों से खींचकर सीढ़ियों से नीचे बेसमेंट में ले गए। बेसमेंट में रानू और बाबू मौजूद थे। रानू ने उनपर देशी कट्टे से दो राउंड फायर कर दिए। 3-4 दिन पहले भी इनकी बहस हुई थी जिसके बाद मोहम्मद शफीक को मारने की फिराक में थे।

गुना में युवक की हत्या से तनाव:हिस्ट्रीशीटर के बेटे ने रंजिश में मारी गोली, युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम; आरोपी के घर पथराव, भारी पुलिस बल तैनात

दो मोटरसाइकिल से भागे
आरोपियों ने भागने की पूरी प्लानिंग कर रखी थी। बोहरा मस्जिद रोड से तलैया की तरफ जाने के लिए रस्ते पर दो मोटरसाइकिल पहले से ही तैयार थीं। गोली मारने के बाद सभी पैदल ही भागकर मोटरसाइकिल तक पहुंचे। वहां से सभी लोग छिंगा चौराहे पर हनीफ के घर पहुंचे। यहाँ कुछ देर रुकने के बाद सभी अलग अलग बंट गए। रानू और बाबू शिवपुरी की तरफ भागे और हनीफ व उसके साथ एक व्यक्ति दूसरी तरफ भाग गए। दो लोग भागकर बदरवास पहुंचे। वहां कुछ देर रुकने के बाद ये इंदौर की तरफ भागने के लिए फिर गुना की तरफ आये। जैसे ही ये गुना में हाईवे पर पहुंचे, पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया। मोटरसाइकिल से ही दोनों इंदौर जाने के लिए निकले थे। बाकी दो लोग किस तरफ भागे ये अभी आरोपी नहीं बता पाए हैं।

मृतक और आरोपियों पर हैं मामले दर्ज
मिली जानकारी के अनुसार आरोपी और मृतक का कई बार विवाद हो चुका था। आरोपी हनीफ पर अलग-अलग थानों में 34 मामले दर्ज हैं। वहीं उसे जिलाबदर भी किया जा चुका है। मृतक मोहम्मद शफीक पर भी 4-5 आपराधिक मामले थानों में दर्ज हैं। दोनों के बीच वर्चस्व की लड़ाई लम्बे समय से चली आ रही थी।

खबरें और भी हैं...