पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कुपोषण और महामारी के खिलाफ अभियान:गर्भवती, धात्री महिलाओं व कमजोर बच्चों को एकता परिषद ने बांटा पौष्टिक आहार

बमाेरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • महामारी व कुपोषण से बचाव के लिए ग्रामीणों को दी समझाइश

एकता परिषद के राष्ट्रीय व प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम के तहत एकता परिषद गुना ईकाई के द्वारा आदिवासी बाहुल्य बमोरी विकास खंड के ग्रामों में बेरखेडी़, शेखपुर, झागर, सुजाखेडी़, परवाह, आदि ग्रामों में कोविड से प्रभावित लोगों को एकता आपदा राहत खाद्य पदार्थों की किट्स का वितरण किया गया।

एकता परिषद के कार्यकर्ता एवं किल कोरोना अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग के साथ कोर्डिनेशन देख रहे दिनेश सिंह सिकरवार ने बताया कि इस आपदा एकता राहत सामग्री किट में गरीब महिला बच्चों को महिला बाल विकास विभाग के सर्वे अनुसार गर्भवती व धात्री महिलाओं व कमजोर बच्चों के लिए क्रमशः एक किलो सत्तू, एक किलो बरी, एक किलो दाल, आधा किलो गुड़ और दो किलो दलिया का पैकेट पौष्टिक आहार के रुप में वितरित किया जा रहा है ताकि गर्भवती, धात्री और कमजोर बच्चों में खाद्य पदार्थों की कमी की वजह से कोई शारीरिक अक्षमता या कमजोरी न आए और बच्चे कुपोषण का शिकार न बनें।

हितग्राहियों को कोविड महामारी संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन कराने के लिए लोगों को प्रेरित भी किया गया तथा कोरोना महामारी संक्रमण से बचाव के उपाय भी बताए गए। इस महिला बाल विकास विभाग से सीडीपीओ पवनजीत अरोरा भी उपस्थित रहे।

एकता आपदा राहत सामग्री वितरण में एकता परिषद गुना के कोआर्डिनेटर सूरज सहरिया, कार्यकर्ता भारत सिंह सहरिया, राजाराम सहरिया, महात्मा गांधी सेवा आश्रम कम्पलीमेंटरी फीडिंग के प्रोजेक्ट कोआर्डिनेटर दीपक अग्रवाल एवं ब्लाक समन्वयक मधु जोशी और राजकुमारी यादव भी राहत सामग्री वितरण में शामिल रहे। कमल सिंह सहरिया मुखिया, रुक्मिणी बाई सहरिया, मनीषा सहरिया नारायण मुखिया, सनमान मुखिया आदि ने सहयोग दिया।

खबरें और भी हैं...