पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

5 माह में 1.72 लाख को टीका:महाअभियान के 10 दिनों में 1 लाख का करेंगे वैक्सीनेशन

गुनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 21 जून से महाअभियान ,110 केंद्र बनेंगे, भीड़ न हो इसलिए एक दिन पहले लोगों को टोकन देकर केंद्र बुलाया जाएगा

कोविड टीकाकरण अभियान में सिर्फ 5 माह में 1.72 लाख लोगों को ही सुरक्षा कवच मिल पाया है, लेकिन अब महाअभियान छेड़कर 10 दिन में 1 लाख से अधिक लोगों को टीका लगेगा। इसे लेकर व्यापक तैयारियां शुरू हो गई हैं। खुद कलेक्टर फ्रेंक नोबल ए इस अभियान की गतिविधि पर निगरानी रखेंगे। 21 से लेकर 30 जून तक महाअभियान चलेगा। इसके पहले ही दिन 15 हजार लोगों को टीका लगाया जाएगा।

शहर, गांव, बसाहट, गली, मोहल्ले में प्रेरक पहुंचेंगे और लोगों को घर से निकालकर टीकाकरण केंद्र पर भेजेंगे। स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों को देखते हुए उम्मीद है कि इस लक्ष्य को पार किया जाएगा। पिछले 3 दिन से में कई बैठकें हो चुकी हैं, शहर में सबसे ज्यादा फोकस है, 14 केंद्रों पर 25 टेबल लगाकर वैक्सीनेशन होगा। इस महाअभियान में 18 प्लस, 45 प्लस जैसे श्रेणी को खत्म कर दिया है, सिर्फ एक श्रेणी रहेगी 18 प्लस। इसके दायरे में 100 साल से अधिक तक के लोग आएंगे।

पहले दिन 15000 और इसके अगले दिनों में हर दिन 10 हजार से ज्यादा को टीका लगाने का लक्ष्य तय

महाअभियान को सफल बनाने 10 दिन में इस तरह किया जाएगा काम

मौके पर ही पंजीयन
महाअभियान के तहत कोई श्रेणी न होने से 18 प्लस के सभी लोगों को टीके लगेंगे। जिले भर में 110 केंद्र बनाए गए हैं, इस पर करीब 150 से ज्यादा टेबल होंगी, जहां टीके लगेंगे। मौके पर ही पंजीयन होगा, इसके लिए आधार कार्ड और मोबाइल नंबर ले जाना होगा। फिर टीका लगेगा। दूसरे टीके की तिथि भी बता दी जाएगी।

एक दिन पहले टोकन
वार्ड, मोहल्ले, कालोनी एवं गांवों में पंचायतकर्मी, आंगनबाड़ी, आशा एवं स्वास्थ्य वर्कर की सेवाएं ली जाएंगी। वहीं कोई भी व्यक्ति प्रेरक बन सकेगा। यह भी लोगों को प्रेरित करेंगे, टीके लगवाने के लिए तैयार होने वाले व्यक्ति को टोकन दिया जाएगा, उसमें समय भी रहेगा, ताकि भीड़-भाड़ केंद्र पर न रहे। नगर पालिका, नगर पंचायत एवं ग्राम पंचायत स्तर पर सभी अमला इस कार्य में जुटेगा।

पहले दिन 15000 फिर हर दिन 10 हजार का लक्ष्य : इस महाअभियान में सारे रिकॉर्ड तोड़े जाएंगे। 21 जून को पहले दिन 15 हजार लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य तय किया है। इसके बाद 30 जून तक कार्यक्रम चलेगा। हर दिन 10 से 11 हजार लोगों को टीका लगाने की कोशिश होगी। इससे 1 लाख से अधिक लोग दायरे में लिए जाएंगे। जबकि पिछले 5 माह में रफ्तार इतनी सुस्त रही कि सिर्फ 1.72 लाख लोग को ही टीका लग पाया।

यह करेंगे सहयोग : मंत्री, विधायक, अन्य जन-प्रतिनिधि, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य, धर्मगुरू, समाजसेवी, कलाकार, खिलाड़ी, साहित्यकार, पत्रकार, विश्लेषक, पद्म पुरस्कार प्राप्त शिक्षक, अधिकारी इत्यादि. जिन हस्तियों को वैक्सीन मोटिवेटर के रूप में आमंत्रित किया गया है, उनके द्वारा वैक्सीन लगवाने की अपील भी जारी की जाएगी। उत्सव मनाया जाएगा, चुनाव के दिन केंद्रों को जैसे सजाया जाता है, किया जाएगा।

जिले में कुल 18+ की जनसंख्या 8.71 लाख... सिर्फ 19 फीसदी को लगे हैं टीके
जिला टीकाकरण में काफी पीछे हैं। 18+ की कुल जनसंख्या 8 लाख 71 हजार है। इसमें से सिर्फ 1.72 लाख लोगों को ही टीका लगा है। यानी कुल 18+ आबादी का 19 प्रतिशत लोग ही टीके से सुरक्षित हो पाएं हैं। एक लंबा गेप है, इसे कैसे दूर किया जाएगा। इस महाअभियान के तहत अगर 1 लाख का लक्ष्य पूरा होता है तो यह आंकड़ा बढ़कर 31 प्रतिशत पर पहुंच जाएगा।

केंद्रों पर चाय, नाश्ते के इंतजाम होंगे
टीकाकरण के लिए प्रेरित करके लिए भी कई कार्य होंगे। जिला पंचायत सीईओ निलेश पारीख ने बताया कि हर केंद्र पर कोशिश होगी कि लोगों को जनसहयोग से चाय, बिस्कुट आदि मिले। वहीं शहर में समाज सेवी ने टॉफी, स्लीपर तक लोगों को बांटी थीं।

भीड़ न हो इसलिए टाेकन बांटे जाएंगे 110 से ज्यादा केंद्रों पर महाअभियान के तहत टीकाकरण होगा। पहले दिन 15000 लोगों को टीके लगेंगे। केंद्र पर टीका लगवाने वालों को एक दिन पहले या उसी दिन एक टोकन दिया जाएगा। -फ्रेंक नोबल ए, कलेक्टर

खबरें और भी हैं...