• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • Was Admitted After Having 35% Oxygen Level; 88 year old Guddibai Fought With Two Women Corona, Discharged After Having 97% Oxygen Level

60 की उम्र में 60 दिन कोरोना से जंग:ऑक्सीजन लेवल 35 होने पर किया था एडमिट; बुजुर्ग गुना के अस्पताल से जिंदगी की जंग जीतकर घर लौटीं

गुना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

60 साल की उम्र। ऑक्सीजन लेवल 35 पर पहुंच गया। एक समय लगा कि सब कुछ खत्म होने वाला है। डॉक्टरों को भी उम्मीद नहीं थी। मगर 2 महीने बाद वह मुस्कुराते हुए अस्पताल से अपने घर लौटीं। यह जीत हौसले की है। अशोकनगर के ग्राम रावसर जागीर की रहने वाली गुड्डीबाई दो महीने तक अस्पताल में कोरोना से लड़ती रहीं। उनको 27 अप्रैल को गंभीर हालत में गुना के जिला अस्पताल रैफर किया गया था।

गुना अस्पताल के कोविड प्रभारी डॉ. सुनील यादव ने बताया, गुड्डी बाई की हालत काफी गंभीर थी। परिजन पहले निजी अस्पतालों में भी ले गए, लेकिन वहां उन्हें भर्ती करने से इनकार कर दिया गया। जब वे जिला अस्पताल पहुंचीं तो उनका ऑक्सीजन लेवल 35 पर था। काफी हांफ रही थीं। डॉक्टर खगेन्द्र ने मेडिकल हिस्ट्री लेकर इलाज शुरू किया। तत्काल उन्हें ऑक्सीजन युक्त बेड पर ले जाया गया। यहां उनका ऑक्सीजन लेवल 70 तक पहुंचा। 15-20 दिन तक ऑक्सीजन लेवल 70 ही बना रहा।

उनको रेमडेसिविर इंजेक्शन के पूरे डोज लगाए गए। जब उनके फेफड़ों का एक्स-रे लिया गया तो वह भी काफी खराब आया था। दवाएं दी गईं, जिससे सुधार होने लगा। डेढ़ महीने बाद उनका ऑक्सीजन लेवल 90 पर पहुंचा। बीच में उनके WBC भी काफी बढ़ गए थे। इसके उपचार के लिए भी नियमित दवाइयां दी गईं। पूरा इलाज ऑक्सीजन बेड पर सामान्य वार्ड में ही किया गया।

महिला ने रखी दृढ़ इच्छाशक्ति
डॉ. सुनील यादव ने बताया कि अमूमन इतने लंबे समय तक अस्पताल में रहने पर मरीज हताश हो जाता है, लेकिन गुड्डी बाई ने खुद को मजबूत बनाए रखा। उन्होंने कभी खाने-पीने में आनाकानी नहीं की। वे नियमित समय पर भोजन लेती रहीं। वहीं साफ-सफाई का भी उन्होंने काफी ध्यान रखा। एक मिनट के लिए भी ऑक्सीजन नहीं निकला। रोज सुबह कुछ देर के लिए योग भी किया। अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति की बदौलत ही वे पूरी तरह स्वस्थ हो पाई हैं। नर्स स्टाफ इंचार्ज सिस्टर नमिता खांडेकर ने बताया कि डॉक्टरों के मार्गदर्शन में उनका पूरा ख्याल रखा गया। तय समय पर दवा और खाना उन्होंने लिया।

अब ऑक्सीजन लेवल 97 पर

डॉ. सुनील यादव ने बताया कि दो महीने बाद महिला मरीज का सीटी स्कैन आदि कराकर जिला अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। इस दौरान उनका ऑक्सीजन लेवल 97 रहा। उन्होंने कहा कि जब महिला मरीज को घर भेज गया तो ये हमारे लिए बड़ी खुशी का दिन था।

खबरें और भी हैं...