पारा 10.1 डिग्री:हवा की दिशा बदली... रात का पारा 1 डिग्री बढ़ा पर 3 दिन बाद 50 पहुंचने के आसार

गुनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर और हिमालय के आसपास सक्रिय

दो दिन तक रात का पारा 10 डिग्री के नीचे बना रहने के बाद इसमें एक डिग्री की बढ़ोत्तरी हो गई। इससे थोड़ी राहत मिली। पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर और हिमालय के आसपास सक्रिय रहने की वजह से मौसम में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी रहेगी। 3 से 4 दिन बाद अचानक ही पारा धड़ाम से गिरेगा। यह 5 डिग्री के आसपास पहुंच सकता है। मौसम विभाग का कहना है कि ग्वालियर चंबल संभाग में अभी इसी तरह पारे में उतार-चढ़ाव आएगा। वहीं पश्चिमी हिमालय में हल्की बारिश से मौसम में ऐसे ही ठंडक बनी रहेगी। 3 दिन में ऐसा रहा पारे का उतार-चढ़ाव का दौर 10 दिसंबर को न्यूनतम पारा 10 डिग्री था। इसके बाद 11 को गिरकर यह 8.6 पर पहुंच गया। जबकि इन दो दिन में अधिकतम तापमान 25 डिग्री के आसपास ही बना रहा। 12 दिसंबर को न्यूनतम पारा 9 पर पहुंचा। दो दिन तक 10 डिग्री के नीचे बना रहने के बाद 13 दिसंबर को पारा 10.1 डिग्री पर आ गया। वहीं अधिकतम पारा 26.8 डिग्री पर पहुंचा।

ठंड से बचने के इंतजाम में जुटे लोग
ठंड से बचने के इंतजाम में लोग जुटे हुए हैं। वहीं नगर पालिका ने अब तक चौक-चौराहे पर अलाव तापने के लिए लकड़ी तक का इंतजाम नहीं किया है। हर साल अलाव के नाम पर नगर पालिका लाखों रुपए की लकड़ी खरीदी के नाम पर बिल बनाती है। कुछ जगहों पर थोड़ी-बहुत जलाऊ लकड़ी भेज दी जाती है और बिल अधिक के लगाए जाते हैं।

यह बनी है स्थिति :

पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर में सक्रिय है। जिससे पंजाब, यूपी, उड़ीसा आदि में कोहरा छाया हुआ है। इस वजह से पश्मिची हिमालय में हल्की बारिश और हिमपात की संभावना है। इसका असर 3 से 4 दिन बाद दिखाई देखा। पारा शुक्रवार-शनिवार तक पारा 6 डिग्री से नीचे आने की संभावना जताई जा रही है।

खबरें और भी हैं...