पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ईद पर नहीं खरीदेेंगे नए कपड़े, गरीबों की करेंगे मदद:घर में रोजा रखकर बच्चे कर रहे महामारी से देश को बचाने की इबादत

गुनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गुना। रमजान माह में बच्चों से लेकर बड़ों तक ने घर में रहकर रोजे रखकर नमाज पढ़ी जा रही है। इस दौरान घरों में रहकर ही इफ्तार किया गया। साथ ही इस दुनिया से यह करोना बीमारी खत्म हो जाए साथ ही जो लोग कोरोना बीमारी से पॉजिटिव हुए है वह ठीक होकर अपने परिवार के पास पहुंच जाएं साथ ही देश में अमन और शांति बनी रहे इसके लिए भी दुआ मांगी। गुलाब गंज में रहने वाले रेहान खान (10), मंतशा खान (7) एवं फरहान खान (5) आदि बच्चों ने घर पर रहकर ही रोजा रखा। इस दौरान वह इबादत में देश के लिए अमन और चैन की और पूरी दुनिया से यह कोरोना बीमारी को खत्म करने के लिए दुआ कर रहे हैं। इस रमजान छोटे-छोटे बच्चों ने आपने माता पिता से बोला पापा हम घर पर ही रहेंगे और हम घर पर ही रोजा रखकर नमाज अदा करेंगे और घर पर ही रोजा खोलेंगे। वहीं इस बार ईद पर हम कोई भी नए कपड़े नहीं खरीदेंगे और ना ही शॉपिंग करने के लिए बाहर जाएंगे। साथ ही बच्चों ने अपने माता-पिता से कहा कि आप दोनों भी घर पर रहो और खासकर पापा आप,आप अगर सुरक्षित रहेंगे तो हम सब भी सुरक्षित रहेंगे। क्योंकि पापा आप हो तो हम हैं। बहरहाल इन तीनों बच्चों का कहना है कि इस रमजान के महीने में हम सब घर पर रहकर रोजा रखेंगे और रोजा खोलेंगे एवं अल्लाह से दुआ करेंगे कि पूरी दुनिया में जो कोरोना बीमारी फैली है, उसे खत्म करें। दुनिया के तमाम लोगों की हिफाजत करें और जो कोरोना बीमारी से पॉजिटिव हुए है उन सभी को अल्लहा ताला जल्दी ठीक और स्वास्थ करने की बच्चे दुआएं मांग रहे हैं। बच्चों ने कहा कि हम ईद पर गरीब और बेसहारा लोगों की मदद करेंगे।

खबरें और भी हैं...