MP के सीहोर में हैवानियत:10 साल की बच्ची को दुष्कर्म के बाद कुएं में फेंका, आधा घंटे तक रस्सी के सहारे लटकी रही

इछावर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घर लौट रही मासूम को 30 साल का युवक खींचकर खेत में ले गया था। - Dainik Bhaskar
घर लौट रही मासूम को 30 साल का युवक खींचकर खेत में ले गया था।

इछावर थाने के दुधलाई में 30 साल के युवक ने 10 साल की एक बच्ची के साथ ज्यादती कर उसे कुएं में फेंक दिया। बच्ची मोटर बांधने की रस्सी के सहारे आधा घंटे तक कुएं में लटकी रही और बचाने के लिए चिल्लाती रही। उसे ढूंढते हुई जब मां कुएं के पास पहुंची तो उसे चीखने की आवाज सुनाई दी। जब पास देखा तो बच्ची लटकी थी। इसके बाद आसपास के लोगों को बुलाकर बच्ची को बाहर निकाला।

जानकारी के अनुसार बच्ची की साइकिल गुम हो गई थी। शुक्रवार शाम वह पैदल-पैदल आर्या गांव की ओर जा रही थी। रास्ते में रोड किनारे खेत पर काम कर रहे दुधलाई के रमेश मोंगिया ने उसे पास बुलाया और खेत में ले जाकर उसके साथ ज्यादती की। युवक की हैवानियत यहीं खत्म नहीं हुई। किसी को पता न चले इसलिए उसने बच्ची को कुएं में फेंक दिया। कुएं में पानी कुछ कम था। बच्ची ने मोटर बांधने के लिए डाली गई रस्सी पर लटककर अपनी जान बचाई।

मां ने गांव वालों की मदद से कुएं से निकाला, बच्ची के सिर पर आठ टांके
कुएं में लटकी बच्ची मदद के लिए जोर-जोर से चिल्लाती रही। जब अंधेरा होने लगा तो बच्ची के परिजन उसे ढूंढने निकले। उसकी मां ढूंढते-ढूंढते कुएं के पास से गुजर रही थी, तभी उसे रोने और चिल्लाने की आवाज आई। उसने जब कुएं में झांककर देखा तो बच्ची रस्सी के सहारे पानी में तैर रही थी।

मां के शोर मचाने पर पड़ोसी किसान आए और उस बच्ची को शाम 7:10 बजे निकाला और इछावर अस्पताल लेकर आए। बच्ची के सिर पर आठ टांके आए हैं। थाना प्रभारी उषा मरावी के अनुसार आरोपी रमेश के खिलाफ POCSO एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। उसकी तलाश की जा रही है।