• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Mungawali
  • After Six Hours, Two Sacks Of Manure Are Being Received, The Feeders Are Getting Upset Due To Manure, Earlier The Farmers Had Sowed Without DAP.

खाद के लिए सुबह 4 बजे से लाइन में:छह घंटे बाद दो बोरी खाद मिल रहा,खाद के चलते परेशान हो रहे अन्नदाता, पहले किसानों ने बिना डीएपी के कर दी थी बोवनी

मुंगावलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस तरह गोदाम के सामने खाद के लिए लगी लोगों की लाइन। - Dainik Bhaskar
इस तरह गोदाम के सामने खाद के लिए लगी लोगों की लाइन।

खाद की कमी के चलते किसान यूरिया के लिए परेशान हो रहे हैं। किसानों की गेहूं की फसल को अंकुरित होने के बाद एक महीना हो गया है। अब फसल को खाद की आवश्यकता है। खाद की कमी के कारण किसानों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसान सुबह 4-5 बजे से खाद के लिए निजी दुकानों, सरकारी गोदामों के सामने लाइन में लग रहे हैं। किसानों को छह-छह घंटे लाइन में धक्के खाने के बाद बड़ी मशक्कत के बाद मात्र दो बोरी खाद मिल रहा है। किसानों का कहना है कि उन्होंने रबी सीजन की फसलों की बोवनी डीएपी खाद नहीं मिलने के कारण बिना खाद के ही कर दी थी। इसलिए अब उन्हें अपने खेतों में अधिक खाद की जरूरत है। इसलिए किसान अब अपने खेतों में सिंचाई के साथ खाद का छिड़काव कर रहे हैं। किसानों को अपनी फसल को अच्छा, मजबूत बनाने और पौधों की तेजी से वृद्धि के लिए खाद की जरूरत है। जिले में खाद की कमी के चलते किसान यूरिया के लिए परेशान हो रहे हैं। किसानों को काफी मशक्कत के बाद मात्र 2 बोरी खाद ही मिल रही है। खाद के लिए किसान तेज ठंड में सुबह 4-5 बजे से लाइन में लग जाते हैं। दिन भर लाइन में खड़े होने के बाद उन्हें बड़ी मुश्किल में दो बोरी खाद ही मिल पा रही है। इससे किसान परेशान हो रहे हैं।

सागर और विदिशा जिले के किसान आ रहे खाद लेने
खाद के लिए गोदाम पर तीन चार जगह पर लंबी-लंबी लाइन लगी हैं। खाद की कमी को लेकर जब भास्कर ने जब इसकी पड़ताल की तो खाद के लिए लाइन में लगे अधिकतर लोगों ने बताया कि वह पड़ोसी जिले सागर और विदिशा के रहने वाले हैं। हमारे रिश्तेदार और मित्रों ने अपने खेतों में सरसों और चना की बोवनी की है। इन लोगों को खाद की जरूरत नहीं है। इसकारण हम इन किसानों की किताबें लेकर लाइन में लग रहे हैं। किसानों ने बताया कि सागर और विदिशा जिले में भी खाद की कमी है। खाद की कमी के चलते हमारे यहां खाद मिल नहीं रहा है। इससे हम खाद लेने के लिए अपने रिश्तेदारों से किताबें लेकर सुबह से ही लाइन में लग जाते हैं।

पिछले साल से अधिक खाद बंटने के बाद भी खाद के लिए लग रहीं लाइनें
सूत्रों के अनुसार विभाग ने इस बार पिछले साल की तुलना में अधिक खाद का वितरण कर दिया है। इसके बाद भी खाद वितरण केंद्रों और दुकानों पर खाद के लिए लगी लाइन कम नहीं हो रही है। क्षेत्र में शत प्रतिशत बोवनी हो चुकी है। इसके बाद भी लोग खाद के लिए परेशान हो रहे हैं। किसानों की भीड़ को देखते हुए अधिकारी भी चिंतित हैं।

इधर... खाद के लिए महिलाएं भी लग रही लाइनों में
खाद के लिए कृषि विपणन संघ की गोदाम में पुरुषों के साथ महिलाएं भी लाइन में लग रही है। गोदाम में सुबह से ही बड़ी संख्या में पहुंचकर महिलाएं लाइन में लग रही है। इससे गोदाम में चारों तरफ खाद की लाइन लग रही है। खाद के लिए लोगों की लंबी-लंबी लाइन लगी होने के कारण लोग परेशान हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...