बारिश शनिवार को रुकी:पिछले साल से 210 मिमी बारिश ज्यादा, लेकिन घोड़ों ने अभी नहीं पिया पानी

नरसिंहगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जल मंदिर के प्लेटफार्म में बने हुए पत्थर के घोड़ों के मुंह तक अभी पानी नहीं पहुंचा है। - Dainik Bhaskar
जल मंदिर के प्लेटफार्म में बने हुए पत्थर के घोड़ों के मुंह तक अभी पानी नहीं पहुंचा है।
  • जल मंदिर के नीचे बने हुए पत्थर के घोड़ों के मुंह तक जब पानी पहुंचने पर पूरा भरता है तालाब

1 सप्ताह से भी ज्यादा समय से चल रही बारिश शनिवार को रुकी। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने घरों से बाहर निकल कर अपने जरूरी काम किए। हालांकि दिनभर बादल छाए रहे लेकिन बारिश नहीं होने से काम करने में आसानी हुई। पिछले वर्ष के मुकाबले इस बार शनिवार तक 210 मिमी बारिश ज्यादा हो चुकी है। लेकिन अभी परसराम सागर के बीच बने जल मंदिर के पत्थर के घोड़ों के मुंह तक तालाब का पानी नहीं पहुंचा है। जिससे तालाब का वेस्ट वियर नहीं चल पाया। यह इस बात का सूचक होता है कि तालाब में पानी पर्याप्त आ चुका है। पूरे नगर में अब सभी को इसी का इंतजार है कि पत्थर के घोड़े पानी को कब छूते हैं। इसे स्थानीय भाषा में घोड़ों का पानी पीना कहा जाता है।

आंकड़ों में बारिश

  • 7 अगस्त 2021 तक कुल बारिश- 689.60 मिमी
  • इसी अवधि में पिछले वर्ष 7 अगस्त 2020 तक कुल बारिश- 479 20 मिमी

(7 जल संसाधन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार।)

खबरें और भी हैं...