पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तप कल्याणक पर्व:महामस्तकाभिषेक कर मनाया तीर्थंकर दिवस

सारंगपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तप कल्याणक पर्व अतिशय क्षेत्र स्थित बड़े मंदिर में हुए धार्मिक कार्यक्रम, 48 दीपांे से की आरती

महावीर दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र स्थित बड़े मंदिर में चैत्र कृष्ण नवमीं यानी सोमवार को इस युग के पहले आदिब्रम्हा देवाधिदेव भगवान ऋषभदेव महाराज का जन्म व तप कल्याणक पर्व तीर्थंकर दिवस के रुप मे मनाया गया। जैन समाज के प्रथम तीर्थंकर भगवान ऋषभदेव का जन्म कल्याणक पर्व के दौरान श्रीजी का महामस्ताकाभिषेक कर शांतिधारा की गई। आदिनाथ का पूजन-अर्चन कर श्रद्धालुओं ने अर्घ्य चढ़ाए। जैन शास्त्रों के अनुसार भगवान ऋषभदेव से ही इस युग में मोक्षमार्ग प्रशस्त हुआ। उन्होंने ही असि, मसि, कृषि आदि शिक्षाएं देकर मानवता को जीवन यापन करना सिखाया। 48 दीपों से की भक्तांबर काव्य की आरती: जन्म एवं तप कल्याणक महोत्सव के अवसर पर बड़े मंदिर में रात 8 बजे 48 दीपों से भक्तांबर महाकाव्य की आरती का आयोजन किया गया। इस मौके पर महेश जैन, संजय जैन, पंकज जैन, डॉ लतेश सिघंई, विजय जैन, गितेश जैन, दिलीप जैन, चंद्रकुमार जैन, वर्धमान सिघंई, निर्मल जैन, अनिल जैन, अर्पिता जैन, बिंदिया जैन, श्वेता सिघंई, मनोरमा बज, प्रमिला जैन, अर्चना जैन सहित समाजजन मौजूद थे।

ऋषभदेव के पुत्र के नाम पर देश का नाम भारत हुआ
अयोध्या में जन्मे प्रथम तीर्थंकर भगवान ऋषभदेव दुर्लभ महापुरुषों में से एक हुए हैं। वैदिक परंपरा के भागवत पुराण में उन्हें विष्णु के चौबीस अवतारों में से एक माना गया है। वे आग्नीघ्र राजा नाभि के पुत्र थे। माता का नाम मरुदेवी था। दोनों परम्पराएं उन्हें इक्ष्वाकु वंशी और काैशलराज मानती हैं। ऋषभदेव को जन्म से ही विलक्षण सामुद्रिक चिह्न थे। शैशवकाल से ही वे योग विद्या में प्रवीण होने लगे थे। जैन पुराणों के साथ-साथ ही वैदिक पुराणों के अनुसार भी ऋषभदेव के पुत्र भरत के नाम पर देश का नाम भारत पड़ा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

    और पढ़ें