बदहाल राेड:तहसील कार्यालय की सड़क का संकरा हिस्सा बचा, दाेनाें किनारों में भी कटाव

नरसिंहगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तहसील कार्यालय वाली सड़क खराब हालत में हैं जिस से अक्सर वाहन चालक दुर्घटना ग्रस्त हो जाते हैं। - Dainik Bhaskar
तहसील कार्यालय वाली सड़क खराब हालत में हैं जिस से अक्सर वाहन चालक दुर्घटना ग्रस्त हो जाते हैं।
  • व्यस्ततम सड़क की खराब हालत को सुधारने पर प्रशासन का ध्यान नहीं

आम लोगों से जुड़ी हुई व्यवस्थाओं की खराब हालत को साफ तौर पर तहसील कार्यालय परिसर में पहुंचकर देखा जा सकता है। जहां सड़क नाम मात्र की बची है। जबकि इसी सड़क के किनारे एसडीएम, तहसीलदार और जनपद सीईओ के कार्यालय हैं। सड़क के दोनों किनारे कटे हुए हैं और पटरियां कीचड़ से भरी हुई हैं। जिससे अक्सर वाहन चालक फिसल कर दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। यह सड़क केवल तहसील कार्यालय ही नहीं बल्कि रघुनाथपुरा, विजयगढ़, रामगढ़ आदि गांव के लिए आने जाने का भी प्रमुख मार्ग है। लेकिन तहसील मुख्यालय पर ही सड़क की खराब हालत को सुधारने पर प्रशासन का ध्यान नहीं है। रोज आते हैं सैकड़ों ग्रामीण तहसील कार्यालय परिसर में राजस्व, न्याय, जनपद आदि विभागों के कामकाज के लिए रोज सैकड़ों ग्रामीण आते हैं। लेकिन इनकी सुविधा के लिए सड़क को बेहतर बनाने पर प्रशासन ने कभी ध्यान नहीं दिया।

मॉर्निंग और इवनिंग वॉक का भी प्रमुख स्थान

तहसील रोड से रोज सुबह शाम बड़ी संख्या में लोग घूमने के लिए निकलते हैं। बुजुर्गों रामचरण अग्रवाल, अशोक कुमार वर्मा, राजेंद्र सिंह कुशवाह, विनोद कुमार गुप्ता आदि का कहना है कि सड़क को व्यवस्थित करना प्रशासन के लिए कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन इच्छाशक्ति का अभाव है। उन्होंने कहा कि हम जैसे बुजुर्गों के बारे में भी संवेदना से नहीं सोचा जाता है। इसीलिए इतनी प्रमुख जगह की सड़क की इतनी खराब हालत है। सुबह शाम घूमते समय हमेशा हमें डर रहता है कि कभी भी कोई भी वाहन चालक टक्कर मार सकता है।

एसडीएम, तहसीलदार और जनपद सीईओ के कार्यालय इस मार्ग पर

प्राथमिकता सभी सड़कों को बनाने की

नगर पालिका की प्राथमिकता में सभी सड़कों को बनाना है। कई प्रस्ताव भी भेजे हैं। सब कुछ बजट पर निर्भर है। हम शासन से तहसील रोड को लेकर भी लगातार संपर्क में हैं।
-राजेंद्र सिंह वर्मा, सीएमओ, नपा

खबरें और भी हैं...