पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना कर्फ्यू में आस्था अनलॉक:तीन बड़े मंदिर में ऑनलाइन दर्शन से जुड़े 10 हजार श्रद्धालु

भोपालएक महीने पहलेलेखक: राजेश चंचल
  • कॉपी लिंक
  • मंदिर समितियां शृंगार दर्शन के साथ दे रहीं व्रत-त्योहारों की भी जानकारी

महामारी और इससे बचाव के लिए कोरोना कर्फ्यू के चलते मंदिरों के बंद रहने से भक्त और भगवान के बीच दूरी बनी हुई है, परंतु श्रद्धा में कोई कमी नहीं आई है। इसका उदाहरण यह है कि इन मंदिरों द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से रोज सुबह-शाम होने वाली आरती के दर्शन श्रद्धालुओं को कराए जा रहे हैं।

इस व्यवस्था से इन मंदिरों में नियमित दर्शन करने जाने वाले लोग घर बैठे ही भगवान के दर्शन करने के साथ आरती होते देख पाते हैं। ये मंदिर हैं- बड़वाले महादेव, कर्फ्यू वाली माता सोमवारा और काली देवी मंदिर पुल पुख्ता। तीनों मंदिरों में सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़कर रोज दर्शन करने वालों की संख्या शहर में दस हजार से अधिक हो चुकी है। तीनों मंदिरों के फेसबुक पेज बनाए गए हैं।

सोशल मीडिया पेज पर भक्तों के कमेंट... हे भगवान! अब तो कोरोना से मुक्ति दिलाओ, ईश्वर सबकी रक्षा करे

बड़वाले महादेव मंदिर के कार्यकर्ता प्रमोद नेमा ने बताया कि ऐसे भक्तों की संख्या हजारों में हैं, जो सुबह-शाम नियमित पूजा व दर्शन के लिए आते थे। अब वे घर से ही सोशल मीडिया के माध्यम से दर्शन कर पा रहे हैं।

कोरोनाकाल में बदलाव; देश-विदेश से भी जुड़े श्रद्धालु
बड़वाले महादेव मंदिर सोशल मीडिया पेज से भोलेनाथ की संध्या आरती के शृंगार दर्शन, प्रदोष व्रत की जानकारी आॅनलाइन दिखाने की व्यवस्था है। मंदिर की बेवसाइट है, जो www.badwalemahadev.com के नाम से है। मंदिर के पेज से विदेश में रह रहे कई श्रद्धालु भी जुड़े हैं। लॉकडाउन में दर्शन करने वालों की संख्या सात हजार तक पहुंच गई है।
कमेंट में मंदिर खुलने की प्रार्थना
सोशल मीडिया पर भक्त कमेंट भी लिखते हैं। इन दिनों लोग कमेंट में भगवान से कोरोना महामारी खत्म करने और मंदिर जल्दी से खुलने की प्रार्थना कर रहे हैं।
यहां पहले से ऑनलाइन दर्शन
उज्जैन के महाकाल, देवास के चामुंडा देवी और सलकनपुर व कंकाली देवी मंदिर में भी आरती के ऑनलाइन दर्शन की सुविधा है।

खबरें और भी हैं...