• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 10 year old Son Returning To His Second Marriage, Father Dies In Road Accident, Six Injured Including Bride

रायसेन रोड पर दर्दनाक हादसा:10 साल के बेटे की परवरिश के लिए दूसरी शादी कर लौट रहे पिता की सड़क हादसे में मौत, दुल्हन समेत छह घायल

भोपाल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टक्कर जबरदस्त थी... कार का स्टीयरिंग नरेंद्र के सीने में जोर से लगा। - Dainik Bhaskar
टक्कर जबरदस्त थी... कार का स्टीयरिंग नरेंद्र के सीने में जोर से लगा।
  • रायसेन रोड पर मंगलवार रात तेज रफ्तार कार और दुग्ध वाहन में हुई भिडंत में एक की मौत

रायसेन रोड पर इरशाद फॉर्म हाउस के पास मंगलवार रात तेज रफ्तार कार और दुग्ध वाहन के बीच हुई भिड़ंत में दूल्हे की जान चली गई। इस हादसे में तीन बच्चे और दुल्हन समेत छह लोग जख्मी हुए हैं। सभी की हालत खतरे से बाहर है। आमने-सामने हुई टक्कर इतनी तेज थी कि कार का इंजन अंदर की ओर खिसक गया और सीने पर स्टेयरिंग की धमक लगने से कार चला रहे दूल्हे की मौत हो गई। पहली पत्नी के निधन के बाद ये रिश्ता पटना में तय हुआ था। युवक अपनी दुल्हन को लेकर पटना से सूरत लौट रहा था।

ये दर्दनाक हादसा ग्राम मालीगांव, सूरत निवासी 38 वर्षीय नरेंद्र कुमार सोनी के साथ हुआ। नरेंद्र बड़े भाई बिहारी लाल के साथ फोटोग्राफी करते थे। बिलखिरिया थाना प्रभारी उमेश चौहान के मुताबिक नरेंद्र की पहली पत्नी का निधन हो चुका है। कुछ समय पहले ही उनकी दूसरी शादी पटना की पूनम से तय हुई थी। कोरोना संक्रमण के चलते वे भाई, भाभी और बच्चों के साथ 23 अप्रैल को पटना पहुंचे थे। 26 अप्रैल को हुई शादी के बाद शाम 5 बजे नरेंद्र परिवार और नवागत दुल्हन पूनम को लेकर सूरत लौट रहे थे।

सब्बल से स्टीयरिंग पर सहारा देकर निकाला

आमने-सामने हुई टक्कर इतनी तेज थी कि कार का इंजन अंदर की ओर खिसक गया। इससे स्टीयरिंग भी कार चला रहे नरेंद्र के सीने पर लगा और इसकी धमक से उनकी जान चली गई। उन्हें बाहर निकालने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। सब्बल और टामी की मदद से कार के कुछ हिस्सों को तोड़कर नरेंद्र को कार से बाहर निकाला गया। समय रहते इलाज मिलने से अन्य घायलों को तो बचा लिया गया, लेकिन नरेंद्र की जान चली गई।

होश में आते ही बेटे ने पूछा- पापा कहां हैं

होश में आते ही राहुल को पुलिस और डॉक्टर नजर आए। उसने पूछा- मेरे पापा कहां हैं? ये सुनते ही उसके सिर पर हाथ फेरते हुए स्टाफ ने कहा, बेटा वो भी ठीक हो जाएंगे। इस हादसे में नरेंद्र के बड़े भाई बिहारी लाल, भाभी भावना बेन, पत्नी पूनम बेन, बेटा राहुल सोनी, भतीजा निहास (11) और भतीजी निहारिका (5) जख्मी हुए हैं।

दुखी परिजन बोले-बेटे की खातिर की थी दूसरी शादी
पहली पत्नी से नरेंद्र को दस साल का एक बेटा राहुल भी है। पत्नी के निधन के बाद नरेंद्र के लिए राहुल की परवरिश करना मुश्किल हो रहा था। इसलिए रिश्तेदारों के कहने पर उन्होंने दूसरी शादी के लिए सहमति दे दी थी। मंगलवार रात करीब नौ बजे नरेंद्र कार लेकर बिलखिरिया थाना क्षेत्र स्थित इरशाद फॉर्म हाउस के पास पहुंचे। तभी सामने से आ रहा सौरभ दूध का मिनी ट्रक उनकी कार से टकरा गया। हादसे की सूचना पर पहुंची बिलखिरिया पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया, जहां नरेंद्र ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

लगातार 28 घंटे किया सफर
नरेंद्र के भाई बिहारी लाल ने पुलिस को बताया कि 26 अप्रैल की शाम पांच बजे वे लोग पटना से निकले थे। रास्ते में कुछ मिनट के लिए रुकते हुए उनकी कार तकरीबन लगातार चल रही थी। जब ये हादसा हुआ तो नरेंद्र की कार सामने से आने वाले वाहनों की लेन में थी। अंदाजा है कि किसी वाहन को ओवरटेक करते वक्त ही ये हादसा हुआ होगा। ओवरटेक करते ही सामने से दुग्ध वाहन आ गया, जिसमें कार जा टकराई होगी।

खबरें और भी हैं...