• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 1000 Prisoners Of Bhopal Central Jail Wrote 1 Crore 26 Lakh 72 Thousand Gayatri Mantra In Two And A Half Years

जेल परिसर में लेखन प्रक्रिया:भोपाल सेंट्रल जेल के 1000 बंदियों ने ढाई साल में 1 करोड़ 26 लाख 72 हजार गायत्री मंत्र लिखे

भोपाल2 महीने पहलेलेखक: राजेश चंचल
  • कॉपी लिंक
बंदियों की सोच को सकारात्मक और उन्हें संस्कारवान बनाना है, जिससे वे रिहा होने के बाद अच्छे काम कर सकें। - Dainik Bhaskar
बंदियों की सोच को सकारात्मक और उन्हें संस्कारवान बनाना है, जिससे वे रिहा होने के बाद अच्छे काम कर सकें।

राजधानी की सेंट्रल जेल के करीब एक हजार बंदियों ने ढाई साल में 1 करोड़ 26 लाख 72 हजार गायत्री मंत्रों का लेखन किया है। यह मंत्र उन्होंने 24 हजार पुस्तिकाओं में लिखा है। हर पुस्तिका में 16 पेज हैं, यानी एक पुस्तिका में 528 बार मंत्र लिखे गए हैं। अब 10 दिसंबर को इन पुस्तिकाओं को सुरक्षित रखने के लिए जेल परिसर में कांच और लकड़ी से बनाए गए शक्ति केंद्र में इनकी स्थापना की जाएगी।

इसका लोकार्पण देव संस्कृति विवि हरिद्वार के कुलपति और गायत्री परिवार के मुखिया डॉ. चिन्मय पंड्या और उनकी पत्नी शैफाली पंड्या करेंगी। इस मौके पर बंदियों द्वारा अखिल विश्व गायत्री परिवार के बैनर तले 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ भी किया जाएगा, जिसमें बंदी ही आहूतियां देंगे। यज्ञ गायत्री परिवार के 5 पुरोहित संपन्न कराएंगे। इस मौके पर भक्ति संगीत भी होगा, जिसे बंदी ही प्रस्तुत करेंगे।

जेल अधीक्षक दिनेश नरगावे ने बताया कि 10 दिसंबर को गायत्री परिवार के सहयोग से यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। मंत्र लेखन और यज्ञ के पीछे जेल प्रशासन और गायत्री परिवार का उद्देश्य बंदियों के सोच को सकारात्मक व उन्हें संस्कारवान बनाना है, जिससे वे रिहा होने के बाद अच्छे कार्य कर सकें। पौधे लगाने व यज्ञ से पर्यावरण की शुद्धि होती है, इस बारे में भी बंदियों को जानकारी दी जाएगी। जेल उप अधीक्षक पीडी श्रीवास्तव ने बताया कि आयोजन की तैयारियां की जा रही हैं। इस दौरान आमंत्रित लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा।

यज्ञ के पूर्व बंदी इन पुस्तिकाओं को अपने सिर पर रखकर शोभायात्रा भी परिसर में निकालेंगे और गाएंगे; एक बनेंगे, नेक बनेंगे, हम सुधरेंगे, युग सुधरेगा, हम बदलेंगे, युग बदलेगा।

गायत्री परिवार ने बताया- महायज्ञ के लिए तांबे और अन्य धातु से बने कुंड रखे जाएंगे

गायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ के रमेश नागर ने बताया कि जेल परिसर में होने वाले 24 कुंडीय यज्ञ के लिए तांबे और अन्य धातु से बने कुंड रखे जाएंगे। बंदियों समेत समूचे जनसमुदाय के कल्याण की भावना के साथ गायत्री मंत्रों से आहुतियां दी जाएंगी। आहूति बंदी ही देंगे। नागर के अनुसार ढाई साल पहले एक हजार से ज्यादा बंदियों को 24 हजार गायज्ञी मंत्र लेखन पुस्तिकाएं दी गई थीं। इन पुस्तिकाओं में 1 करोड़, 26 लाख, 72 हजार मंत्र लेखन किया जा चुका है।