पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 13 Festivals In The Next 18 Days, Many Special Festivals Till The End Of February, Best Muhurta To Start Vidya On Basant Panchami

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बसंत बहार:अगले 18 दिन में 13 त्योहार, फरवरी अंत तक कई विशेष पर्व, बसंत पंचमी पर विद्या प्रारंभ का श्रेष्ठ मुहूर्त

भोपाल20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

साल 2021 का दूसरा महीना फरवरी अपने साथ कई व्रत और त्योहार लेकर आया है। हिंदू या सनातन धर्म की विविधता और विशालता को हर साल होने वाले तीज, त्योहार, कर्मकांड दर्शाते हैं। यही कारण है कि वसंत पर इन दिनों त्योहारों की बहार है। अब अगले 18 दिन में करीब 13 प्रमुख त्योहार आ रहे हैं।

करीब एक साल से कोरोना संक्रमण के चलते लोग अपने तीज त्योहार धूमधाम से नहीं माना पा रहे थे, लेकिन अब कोरोना वैक्सीन आ जाने से वर्ष 2021 से लोगों को कई उम्मीदें हैं। फरवरी में पड़ने वाले त्योहारों को लोग पहले की तरह उत्साह से मना सकेंगे।

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक हिंदू धर्म में कई शुभ तिथियों और त्योहारों का बड़ा महत्व है। इन अवसरों पर हिंदू धर्म के अनुयायी पूजा, जप-तप, व्रत और वैदिक कर्मों को शुभ मानते हैं। वहीं हर माह कई पर्व भी आते हैं। फरवरी में एक तरफ जहां गुप्त नवरात्र 12 फरवरी से प्रारंभ हो रहे हैं, वहीं वसंत पंचमी 16 फरवरी व माघ पूर्णिमा 27 फरवरी को मनाई जाएगी। इसके साथ ही कई अन्य व्रत और त्योहारों की भरमार इस महीने रहेगी।

फरवरी के प्रमुख उत्सव
9 फरवरी भौम प्रदोष व्रत
10 फरवरी मासिक शिवरात्रि
12 फरवरी गुप्त नवरात्र प्रारंभ, कुंभ संक्रांति
15 फरवरी गणेश जयंती, विनायक चतुर्थी
19 फरवरी अचला सप्तमी, शिवाजी जयंती
20 फरवरी भीष्म अष्टमी
21 फरवरी माघ गुप्त नवरात्रि समापन
24 फरवरी प्रदोष व्रत

षटतिला एकादशी व्रत पर तिल का विशेष महत्व
7 फरवरी को षटतिला एकादशी पर तिल का विशेष महत्व बताया गया है। इस दिन तिलों का 6 प्रकार से उपयोग किया जाता है। इस दिन काले तिल के प्रयोग का विशेष महत्व है। इनमें तिल से स्नान, तिल का उबटन लगाना, तिल से हवन, तिल से तर्पण, तिल का भोजन और तिलों का दान किया जाता है, इसलिए इसे षटतिला एकादशी व्रत कहा जाता है।

मौनी अमावस्या
11 फरवरी को माघ कृष्ण पक्ष की अमावस्या माघ अमावस्या या मौनी अमावस्या कहते हैं। इस दिन मनुष्य को मौन रहना चाहिए। पवित्र नदियों में स्नान करना चाहिए। धार्मिक मान्यता के अनुसार मुनि शब्द से ही मौनी की उत्पत्ति हुई है।

बसंत पंचमी
16 फरवरी को बसंत पंचमी पर्व मनाया जाएगा। इस दिन सरस्वती पूजा का महत्व है। वहीं, अबूझ मुहूर्त में कई जगह विवाह मांगलिक भी होंगे। बसंत आते ही ठंड का अंत होने लग जाता है और बसंत ऋतु का आगमन होने लगता है।

जया एकादशी
23 फरवरी को जया एकादशी के दिन भगवान विष्णु की आराधना की जाएगी। यह व्रत पुण्यदायी होता है। मान्यता है कि इस दिन श्रद्धापूर्वक व्रत करने वाले व्यक्ति को भूत-प्रेत, पिशाच जैसी योनियों में जाने का भय नहीं रहता है।

माघ पूर्णिमा
27 फरवरी काे माघ पूर्णिमा तिथि रहेगी। धार्मिक और आध्यात्मिक दृष्टि से माघ पूर्णिमा का विशेष महत्व है। इस तिथि पर स्नान, दान और जप करना फलदायी होता है। माघ माह में चलने वाला यह स्नान पौष की पूर्णिमा से आरंभ होकर माघ पूर्णिमा तक होता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें