पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 1500 New Cases Were Found On 23 March MP Reached There On 30 May, Will Remain 800 By 10 June

हालात अब हेल्दी:23 मार्च को 1500 नए केस मिले थे, 30 मई को मप्र वहीं पहुंचा, 10 जून तक 800 रह जाएंगे

भोपाल18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना के 14 महीने में रोजाना के केसों में तीन बड़े पीक। - Dainik Bhaskar
कोरोना के 14 महीने में रोजाना के केसों में तीन बड़े पीक।
  • यही ट्रेंड रहा तो अनलॉक का 15 जून तक वाला पहला चरण सफल होगा
  • सेंटर फॉर मेथमेटिकल मॉडलिंग इंफेक्सियश डिसीज का अध्ययन

मध्यप्रदेश में अब हालात हेल्दी होने लगे हैं। ठीक 69 दिन पहले 23 मार्च को राज्य में डेढ़ हजार नए कोविड संक्रमित मिले थे। 30 मई को मप्र फिर उसी आंकड़े पर पहुंच गया है। रविवार को 1476 केस मिले हैं। सरकार का अनुमान है कि यही रफ्तार रही तो 10 जून से 15 जून के बीच 800 से 1000 तक नए केस मिलने लगेंगे। सेंटर फॉर मेथेमेटिकल मॉडलिंग फॉर इंफेक्सियश डिसीज के सेम अबोट ने राज्य सरकार को बताया है कि 7 जून को रोजाना मिलने वाले केस 500 से 1400 के बीच होंगे।

आईआईटी कानपुर के प्रो. मनींद्र अग्रवाल और आईआईटी हैदराबाद के प्रो. माथूकुमाली विद्यासागर ने भी बताया कि 15 जून तक रोजाना के केस 1500 से कम रह जाएंगे। आईआईटी के प्रोफेसरों के अनुमान के नजदीक रोजाना के केस पहुंच गए हैं। प्रदेश एक जून से अनलॉक हो रहा है। सरकार ने अनलॉक को देखते हुए रैपिड एंटीजन और आरटीपीसीआर टेस्ट की संख्या बरकरार रखी है। रविवार को भी 78 हजार टेस्ट किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि अनलॉक के दौरान केस बढ़ने का अनुमान तो कम है, लेकिन हम सख्त निगरानी जारी रखेंगे।

मार्च ने ही चौंकाया था, दोगुने हो गए थे केस
23 मार्च का ही वह दिन था, जब राज्य सरकार के कर्ताधर्ताओं को पहली बार साप्ताहिक पॉजिटिविटी के आंकड़े देखकर एहसास हुआ था कि कोरोना के केस एक हफ्ते में ही दो गुना हो गए। 16 मार्च को नए केसों की साप्ताहिक संख्या 4 हजार 681 थी, जो 23 मार्च को 8 हजार 369 पर पहुंच गई थी। इसके बाद यह हर सप्ताह तेजी से बढ़ी। साथ ही 13 अप्रैल को लॉकडाउन की घोषणा के अगले ही दिन यह संख्या 45 हजार के पार हो गई।

प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या लगातार घट रही है। 14 मई को जहां एक्टिव केस बढ़कर एक लाख से ज्यादा हो गए थे, वहीं अब सिर्फ 27 हजार केस बचे हैं।
प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या लगातार घट रही है। 14 मई को जहां एक्टिव केस बढ़कर एक लाख से ज्यादा हो गए थे, वहीं अब सिर्फ 27 हजार केस बचे हैं।

कंट्रोल हो जाएगा, दो जिले जीरो हो गए
स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने कहा कि जून में केस कम होंगे। स्थितियां कंट्रोल में होंगी। दो जिले आगर-मालवा और भिंड में रविवार को ‘जीरो’ केस आए हैं। खंडवा, बुरहानपुर और कटनी में एक-एक केस ही मिला है। मंडला-हरदा में दो केस हैं। 23 जिलों में सिंगल डिजिट में केस आए हैं। सिर्फ दो जिले भोपाल-इंदौर हैं, जहां 100 से ज्यादा केस हैं।

खबरें और भी हैं...