• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 200 Tocilimizulabs Should Be Given, Who Should Be Given, This Committee Of Health Department Will Decide

इंजेक्शन संबंधित नई व्यवस्था:200 टोसिलिमिजुलैब मिले, किसे दिए जाएं, यह स्वास्थ्य विभाग की समिति तय करेगी

भोपाल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टोसिलिमिजुलैब इंजेक्शन क्लीनिकल आधार पर मूल्यांकन कर इमरजेंसी में ही लगाया जाता है। यही वजह है कि इसकी जरूरत कम ही मरीजों को होती है। - Dainik Bhaskar
टोसिलिमिजुलैब इंजेक्शन क्लीनिकल आधार पर मूल्यांकन कर इमरजेंसी में ही लगाया जाता है। यही वजह है कि इसकी जरूरत कम ही मरीजों को होती है।

केंद्र सरकार ने मप्र के लिए 200 टोसिलिमिजुलैब इंजेक्शन का आवंटन कर दिया है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने समिति गठित करते हुए नई व्यवस्था शुरू की है। अब समिति तय करेगी कि इंजेक्शन की जरूरत मरीज को वाकई है भी या नहीं? इसके लिए मेडिकल ग्राउंड के आधार पर ही पात्र मरीज को सिपला कंपनी के इंजेक्शन दिए जाएंगे।

यह इंजेक्शन क्लीनिकल आधार पर मूल्यांकन कर इमरजेंसी में ही लगाया जाता है। यही वजह है कि इसकी जरूरत कम ही मरीजों को होती है। समिति में संबंधित संभागीय मुख्यालय के अधिष्ठाता, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय, संबंधित संभागीय संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं होंगे।

कमेटी परिपत्र के साथ निर्धारित प्रारूप में कोविड अस्पतालों से जरूरतमंद मरीज की जानकारी लेगी। क्लीनिकल मूल्यांकन करने के बाद ही इंजेक्शन मरीज को लगवाया जाएगा। अस्पताल को इंजेक्शन का रिलीज ऑर्डर समिति द्वारा जारी किया जाएगा। सिपला के स्टॉकिस्ट द्वारा रिलीज ऑर्डर के आधार पर उतनी संख्या में इंजेक्शन संबंधित कोविड अस्पताल को जारी करने होंगे।

खबरें और भी हैं...