कांस्टेबल रिक्रूटमेंट टेस्ट आज से:अगले 42 दिन में भोपाल के 18 सेंटर पर 2.45 लाख देंगे परीक्षा

भोपाल16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
परेशानी से बचने के लिए दो घंटे पहले सेंटर पहुंचें सभी कैंडिडेट। - Dainik Bhaskar
परेशानी से बचने के लिए दो घंटे पहले सेंटर पहुंचें सभी कैंडिडेट।

दो साल के लंबे इंतजार के बाद पुलिस कांस्टेबल रिक्रूटमेंट टेस्ट शनिवार से शुरू होने जा रहे है, लेकिन इस टेस्ट पर कोविड की तीसरी लहर का असर साफ नजर आ रहा है। जो कैंडिडेट इस टेस्ट में शामिल होने वाले हैं, उन्हें निर्देश दिए हैं कि वे डेढ़ से दो घंटे पहले सेंटर पहुंच जाएंगे।

वहां उन्हें टेस्ट से पहले पांच तरह की जांच से गुजरना होगा। टेस्ट दो पाली में है। सुबह 10 से 12 और शाम को 3 से 5 का समय तय है। कैंडिडेट के लिए सुबह 8 बजे और दोपहर 1 बजे से सेंटर पर प्रवेश शुरू कर दिया जाएगा। भोपाल के 18 सेंटर पर 42 दिन तक 2.45 लाख स्टूडेंट ऑनलाइन परीक्षा देंगे।

सेंटर पर मुख्य गेट पर मास्क उतरवाकर आईडी से चेहरे का मिलान करेंगे। फिर थर्मल स्कैनिंग, सेनेटाइजेशन, आधार नंबर व फिंगर प्रिंट की जांच होगी। आधार जांच के लिए 50 कैंडिडेट पर एक मशीन लगाई है। जांच के बाद हाथ सेनेटाइज कराए जाएंगे और इसके बाद ही सेंटर में प्रवेश मिलेगा। बैठक व्यवस्था में 3 फीट का गैप रखा है। शुक्रवार को सेंटर पर दोनों पाली में मॉक टेस्ट लिया गया।

कांस्टेबल टेस्ट देने वालाें की जांच के लिए पुलिसकर्मियों को विशेष प्रशिक्षण

पीईबी की तरफ से प्रत्येक सेंटर पर प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर को ऑब्जर्वर बनाया गया है। वहीं फील्ड का काम संभाग आयुक्त कार्यालय को दिया है। संभागायुक्त की तरफ से परीक्षा कराने की जिम्मेदारी उपायुक्त किरण गुप्ता संभाल रही हैं। 6 लोगों की टीम दस्तावेज जांचने का काम करेगी। गड़बड़ी की आंशका न हो, इसके लिए 4 सेंटर के बीच तहसीलदार व नायब तहसीलदार का एक ग्रुप बनाया गया है। इसमें चार अफसर हैं, जो फील्ड ऑब्जर्वर रहेेंगे। एडिशनल सीपी ने प्रत्येक सेंटर पर तीन पुलिसकर्मी, जिसमें एक महिला और दो पुरुष को सुरक्षा व जांच के लिए तैनात किए हैं। इन्हें कैंडिडेट की जांच व निगरानी करने के लिए स्पेशल ऑनलाइन ट्रेनिंग दी गई है।

8 जनवरी से 17 फरवरी तक टेस्ट
टेस्ट के लिए भोपाल में कुल 18 सेंटर बनाए गए हैं। एक पाली में एक सेंटर पर 350 से 450 स्टूडेंट एक्जाम देंगे। यह टेस्ट 8 जनवरी से शुरू होकर 17 फरवरी तक यानी 42 दिन तक होंगे। इस दौरान सिर्फ 14, 21 और 26 जनवरी के साथ 4 फरवरी को परीक्षा में गैप रहेगा। भोपाल के साथ ग्वालियर, इंदौर, उज्जैन सहित 13 शहरों के 74 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा होगी और कुल 12.72 लाख स्टूडेंट इसमें शामिल होंगे।

राजधानी में इन सेंटर्स पर होंगे टेस्ट
केएनपी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट मिसरोद, सेज युनिवर्सिटी 11 मील, जेएनसीटी चौकसे नगर, मित्तल इंस्टीट्यूट नवीबाग, एसआईआरटी मिनाल, आईईएएस कलखेड़ा रातीबढ़, वैष्णवी इंस्टीट्यूट मेंदुआ भोजपुर रोड, मिलेनियम इंस्टीट्यूट बरखेड़ा नाथू, ट्रिनिटी इंस्टीट्यूट कोकता, लक्ष्मीपति इंस्टीट्यूट अमझरा रोड खजुरीकला, राधारमण इंजी. कॉलेज रातीबड़, सुरभि कॉलेज सूखी सेवनिया, एलएनसीटी कॉलेज कलचुरीनगर आदि शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...