MP में कोरोना काल का सबसे डरावना ट्रेंड:हर घंटे 55 नए संक्रमित... ठीक होने वाले सिर्फ सात; 17 दिन में छठी मौत

भोपाल4 महीने पहले

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्पीड कंट्रोल से बाहर हो गई है। 24 घंटे में 1320 नए केस मिले हैं। ठीक सिर्फ 161 ही हुए। यानी हर घंटे में एवरेज 55 लोग पॉजिटिव हो रहे हैं जबकि ठीक हर घंटे सिर्फ सात लोग हो रहे हैं। 17 दिन में छह मौत हो गई है। जनवरी में 800% तक संक्रमित बढ़ चुके हैं। इंदौर और भोपाल के बाद ग्वालियर और जबलपुर भी बड़े हॉटस्पॉट बन चुके हैं। ग्वालियर में 24 घंटे में 142 और जबलपुर में 92 नए केस मिले हैं। इंदौर में 584 और भोपाल में 246 लोग पॉजिटिव हुए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में एक्टिव केस बढ़कर 3633 हो चुके हैं। एक दिन में 1159 एक्टिव मरीज बढ़े हैं। इधर, संक्रमण दर के मामले में उज्जैन सबसे आगे है। यहां वीकली पॉजिटिविटी रेट 13 प्रतिशत के पार चला गया है।

1 जनवरी को प्रदेश में कोरोना के 168 नए केस मिले थे, जो 6 जनवरी को 1320 हो गए। कोरोना ने अब उन जिलों को भी जद में लेना शुरू कर दिया है, जहां पिछले 6 महीने से एक भी केस नहीं था। 42 जिलों में कोरोना संक्रमण फैल चुका है।

इंदौर: 7% के करीब संक्रमण दर, एक सप्ताह में छह गुना बढ़ी
इंदौर में गुरुवार को फिर 584 नए मरीज मिले हैं। पॉजिटिविटी रेट एक दिन 5.41% था, जो बढ़कर 6.41% हो गया है। दिसंबर के अंतिम सप्ताह में 1% से ज्यादा था। अब संक्रमण की चपेट में पैरामेडिकल स्टाफ और डॉक्टर्स भी आने लगे हैं। पिछले 10 दिनों में 15 से ज्यादा स्टाफ संक्रमित हुआ है। इसके सहित अधिकांश संक्रमित एसिम्प्टोमैटिक हैं और उनकी हालत अच्छी है। जो 15 से ज्यादा स्टाफ संक्रमित हुआ है, उनमें 4 रेसिडेंट डॉक्टर्स हैं। इस बीच एक्टिव मरीजों की संख्या 1716 हो गई है।

ग्वालियर में कोरोना ने बढ़ाई चिंता
कोरोना ने ग्वालियर में भी चिंता बढ़ा दी है। यहां 24 घंटे में रिकॉर्ड 142 केस मिले। इन्हें मिलाकर एक्टिव केस 330 हो गए हैं। चिंता वाली बात ये है कि 24 घंटे में सिर्फ 1 मरीज ही ठीक हुआ। 224 दिन बाद ऐसा हुआ है कि एक दिन में 100 से अधिक संक्रमित मिले हैं।

जबलपुर में भी नए केस शतक के करीब, जांच सैंपल घटाए
जबलपुर में कोविड कंट्रोल करने आंकड़ों का खेल शुरू हो गया। कोविड के बढ़ते आंकड़ों के बीच प्रशासन ने सैंपल की जांच संख्या घटा दी। जब केस जीरो आ रहे थे, तो 6 हजार तक सैंपल की जांच की जा रही थी। 24 घंटे में 92 नए संक्रमित मिले हैं, जबकि 5091 सैंपल की जांच की गई है। जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 235 पहुंच गई। संक्रमितों में 60% की ट्रैवल हिस्ट्री मिल रही है।

इन जिलों में भी कोरोना
उज्जैन, सागर, होशंगाबाद, छिंदवाड़ा, रतलाम, रीवा, खंडवा, शहडोल, बैतूल, शिवपुरी, बुरहानपुर, बड़वानी, नीमच, खरगोन, बालाघाट, अनूपपुर, मंदसौर, धार, नरसिंहपुर, राजगढ़, अलीराजपुर, अशोकनगर, रायसेन, सतना, सिंगरौली, उमरिया, भिंड समेत 42 जिलों में कोरोना के केस मिल रहे हैं।

एक्टिव केस ज्यादा, ठीक होने वाले कम
प्रदेश में एक्टिव केस ज्यादा हैं, लेकिन ठीक होने वालों की संख्या बहुत कम है। इंदौर में सबसे ज्यादा 1716 एक्टिव मरीज हैं। यहां 24 घंटे में 138 मरीज ठीक हुए। भोपाल में एक्टिव मामले 600 के पार पहुंच चुके हैं, लेकिन 24 घंटे के भीतर ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 20 भी नहीं है। ग्वालियर में 1 मरीज ही ठीक हुआ है।

खबरें और भी हैं...