• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 59 inch Kolar Line Burst, Water Filled In Many Homes, Half town For Two Days Shortage; Footy Line In Front Of Kolar Rest House, Three People Injured

जलसंकट:59 इंच की कोलार लाइन फूटी, कई घरों में भरा पानी, आधे शहर में दो दिन किल्लत; कोलार रेस्ट हाउस के सामने फूटी लाइन, तीन लोग घायल

भोपाल2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोलार रेस्ट हाउस के सामने फूटी लाइन - Dainik Bhaskar
कोलार रेस्ट हाउस के सामने फूटी लाइन
  • पानी में करंट फैलने से एक महिला घायल, एक बच्चा नाले में बहते-बहते बचा

चार इमली क्षेत्र से गुजर रही 1500 मिमी (59 इंच) व्यास की मुख्य कोलार पाइपलाइन रविवार-सोमवार की बीती रात एक बजे फूट गई। इससे सोमवार को लगभग आधे शहर में पानी नहीं आया। अब मंगलवार दोपहर तक यदि पाइप बदल गया तब भी बुधवार से पहले पानी सप्लाई सामान्य होने की संभावना नहीं है। कोलार रेस्ट हाउस के सामने फॅारेस्ट कॉलोनी के पास फूटी लाइन से आसपास की 16 झुग्गियों और कई मकानों में पानी भर गया।

आठ साल का एक बच्चा करण पानी के बहाव में नाले में बहने लगा। उसे सिर में चोट आई है। यहां रहने वाले बबलू धोलपुरिया ने उसे बचाया। पानी भरने के कारण झुग्गियों में करंट फैल गया। करण की नानी गीता बाई को करंट लगा है। गीता बाई और करण को जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसी बस्ती में रहने वाली वंदना मंडल के भी सिर में चोट आई है।

इन क्षेत्रों में नहीं होगा पानी सप्लाई
नारियलखेड़ा, जेपी नगर, पीजीबीटी कॉलेज एरिया, काजीकैंप, शाहजहांनाबाद, टीला जमालपुरा, बाल विहार, पुतलीघर, इब्राहिमगंज, चांदबड़, गिन्नौरी, बुधवारा, नदीम रोड, लखेरापुरा, निशातपुरा, पुराना बस स्टैंड, बाल विहार, स्टेशन बजरिया, संपूर्ण अरेरा कॉलोनी, शाहपुरा ए, बी, सी सेक्टर, गुलमोहर, त्रिलंगा,शाहपुरा छावनी, पारस सिटी, रेलवे कॉलोनी हबीबगंज, 1100 क्वार्टर्स, जनता क्वार्टर्स, मीरा नगर, पीएंडटी कॉलोनी, जवाहर चौक, चार इमली, पंचशील नगर,नेहरू नगर, वैशाली नगर, कोटरा गवर्नमेंट क्वार्टर्स, बघीरा अपार्टमेंट्स, साउथ टीटी नगर, 228 क्वार्टर्स, अम्बेडकर नगर, सरस्वती नगर, 25 वीं बटालियन, गीतांजलि कॉम्प्लेक्स, संजय कॉम्प्लेक्स आदि शामिल हैं।

ये वजह...पुरानी लाइन में अधिक दबाव से सप्लाई
35 साल पुरानी कोलार लाइन में अधिक दबाव से सप्लाई हो रही है। वल्लभ भवन के पास बने जीआर टैंक को भरने 4.5 केजीएफ प्रति वर्ग सेमी से अधिक प्रेशर से सप्लाई हो रही थी। जकोलार के मैन्युअल में 4 केजीएफ प्रति वर्ग सेमी से अधिक प्रेशर नहीं लेने की बात कही गई है।

खबरें और भी हैं...