• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 69 Lakhs Earned By Indore Every Year By Selling Carbon Credits, Bhopal Could Neither Calculate It Nor Find A Buyer.

इंदौर से ज्यादा प्रोजेक्ट भोपाल में:जिस कार्बन क्रेडिट को बेचकर इंदौर हर साल कमा रहा 69 लाख, भोपाल उसका न हिसाब लगा पाया, न खरीदार ढूंढ पाया

भोपाल4 महीने पहलेलेखक: भीम सिंह मीणा
  • कॉपी लिंक
  • कार्बन उत्सर्जन कम करने के लिए हमारा नगर निगम 4 साल से सिर्फ प्लान बना रहा है

शहर में कार्बन उत्सर्जन कम करने के लिए जिन प्रोजेक्ट पर भोपाल नगर निगम बीते चार साल से काम ही कर रहा है, लेकिन इंदौर की हकीकत कुछ अलग है। ऐसे ही कुछ प्रोजेक्ट से इंदौर नगर निगम ने हर साल 69 लाख की कमाई शुरू कर दी है। इंदौर की यह कमाई 30 साल तक जारी रहेगी। इधर, भोपाल निगम और भोपाल स्मार्ट सिटी के बीच चार साल में कई बार इस तरह के प्रोजेक्ट पर बात हो चुकी है।

लेकिन अब तक कैलकुलेशन ही किया जा रहा है और खरीदार की तलाश की जा रही है। जबकि भोपाल में इंदौर से अधिक क्रेडिट स्कोर की संभावना है। यह स्कोर अंतरराष्ट्रीय बाजार में बेचे जाते हैं। इनकी कीमत डेढ़ यूएस डॉलर हो सकती है। इसके लिए यूनाईटेड नेशनल फ्रेम वर्क कनेक्शन ऑन क्लाइमेट चेंज (UNFCCC) ने मापदंड तय किए हैं।

कार्बन क्रेडिट क्या है...और कैसे बेचे जाता है
पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाली गैसों को नियंत्रित करने की प्रक्रिया और किए जाने वाले उपाय के बाद जो कार्बन कम होता है, उसे कार्बन क्रेडिट माना जाता है। यदि नया जंगल तैयार किया तो प्रति हेक्टेयर 30 क्रेडिट तैयार हो जाएंगे। ऐसे ही यदि घर में एलईडी की इस्तेमाल करते हैं तो 9 वॉट पर 0.10 से 0.15 तक कार्बन क्रेडिट मिलेगा। शहर में सोलर रूफ टॉप लगा हुआ है तो 1500 क्रेडिट तक मिल सकते हैं।

हम कंपनी तलाश रहे, इंदाैर को 30 साल तक मिलेगी राशि

भोपाल क्या कर रहा है?
बाइक शेयरिंग, तीन सोलर पॉवर (785 किलोवॉट), 10 ई-व्हीकल, 200 ई-व्हीकल चार्जिंग पाइंट, 150 स्मार्ट पोल, 20,500 एलईडी लाइट, दो ग्रीन बिल्डिंग, कंपोस्ट वेस्ट बिट्‌टन मार्केट, 13 कचरा सेग्रीगेशन साइट, नूतन काॅलेज के पास ईको पार्क और 5 एकड़ का स्मार्ट पार्क जहां डेवलप हो चुके हैं। 4 आर (रीसायकल ,रिड्यूस, रीयूज, रिडिस्ट्रिब्यूशन) कार्यक्रम चलाया गया था।

... और इंदौर ने यह किया
निगम और स्मार्ट सिटी ने शहर में लगाए प्रोजेक्ट का कार्बन स्कोर कुलकुलेट किया। इसमें बायोमिथेनाइजेशन, कंपोस्ट बनाना, शहर में तैयार जंगल, सड़क किनारे एलईडी, पावर प्राेजेक्ट, सोलर वॉटर हीटर और साेलर रूफ टॉप शामिल हैं। इन सबसे मिलाकर 1.70 लाख कार्बन क्रेडिट दो साल में कमाए। इसे बेचने जर्मन की एक कंपनी से 30 साल के लिए अनुबंध किया। बदले में इंदौर को हर साल 69 लाख रुपए मिलेंगे।

ऐसे कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन...

  • कार्बन क्रेडिट के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होता है।
  • रेगुलेटरी अथॉरिटी द्वारा वेरिफिकेशन किया जाता है।
  • कार्बन क्रेडिट संख्या के हिसाब से सर्टिफिकेट मिलता है।
  • इसके आधार पर अंतरराष्ट्रीय बाजार में कंपनी से अनुबंध किया जाता है।

भोपाल में दूसरे शहरों की अपेक्षा कार्बन क्रेडिट अधिक है। स्मार्ट सिटी और नगर निगम के प्रोजेक्ट काफी बड़े हैं और इनकी संख्या भी अधिक है। हम एक बेहतर कंपनी तलाश कर रहे हैं, जिनसे अनुबंध किया जाए। - आदित्य सिंह, सीईओ, स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन

खबरें और भी हैं...