पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 7 Thousand Cases Pending, Most Of Them 5208 For Transfer, The Logic Of Administration Staff Is Busy In Corona And Vaccination Program For One And A Half Years

पेंडेेंसी जारी है क्योंकि सिस्टम सरकारी है...:7 हजार मामले लंबित, इनमें सबसे ज्यादा 5208 नामांतरण के, प्रशासन का तर्क- अमला डेढ़ साल से कोरोना और वैक्सीनेशन प्रोग्राम में व्यस्त हैं

भाेपाल15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना के संक्रमण ने शहर के सरकारी दफ्तरों में नामांकन, बंटवारा, बिल्डिंग परमीशन, नल कनेक्शन और जमीन के सीमांकन जैसे जरूरी कामों की रफ्तार धीमी कर दी है। - Dainik Bhaskar
कोरोना के संक्रमण ने शहर के सरकारी दफ्तरों में नामांकन, बंटवारा, बिल्डिंग परमीशन, नल कनेक्शन और जमीन के सीमांकन जैसे जरूरी कामों की रफ्तार धीमी कर दी है।

कोरोना के संक्रमण ने शहर के सरकारी दफ्तरों में नामांकन, बंटवारा, बिल्डिंग परमीशन, नल कनेक्शन और जमीन के सीमांकन जैसे जरूरी कामों की रफ्तार धीमी कर दी है। नतीजतन- नगर निगम, तहसील, कलेक्टोरेट सहित अन्य दफ्तरों में लोक सेवा गारंटी योजना में आने वाले कामों की पेंडेंसी भी बढ़ती जा रही है। यह खुलासा सरकारी दफ्तरों में आम आदमी के जरूरी कामों की फाइलें लंबित मामले की पड़ताल में हुआ है।

सबसे ज्यादा 5208 मामले नामांतरण के तहसील, एसडीएम और कलेक्टोरेट में लंबित हैं। यह स्थिति अकेले नामांतरण के प्रकरणों की नहीं हैं, बल्कि बंटवारा, डायवर्सन और सीमांकन के 1500 से ज्यादा केस का निराकरण नहीं हो सका है। यह केस एक महीने से लेकर 5 साल तक पुराने हैं। प्रशासनिक दफ्तरों में आम आदमी के जरूरी काम लंबित होने की वजह प्रशासन के अफसर कोविड को मानते हैं। उनका तर्क है राजस्व अमला डेढ़ साल से कोरोना और वैक्सीनेशन प्रोग्राम में व्यस्त हैं।

बहाने... कोरोना और टीकाकरण में व्यस्त हैं अफसर

ढाई महीने बाद भी आवेदन पेंडिंग है

एमपी नगर एसडीएम कार्यालय में फौती के लिए आए रमेश सिंह ने बताया कि ढाई महीने से ज्यादा समय से उनके रिश्तेदार का आवेदन किया हुआ है। वे उसी को पता करने के लिए आए थे। पहले कोरोना कर्फ्यू होने की वजह से काम नहीं हो पाया था।

सीमांकन का आवेदन 6 महीने से अटका हुआ है

कोलार एसडीएम कार्यालय में मनोहरलाल ने सीमांकन के लिए आवेदन दिया है। लेकिन करीब छह महीने से उनका काम भी अटका हुआ है। उन्होंने बताया कि वे इसी के लिए आए हैं, लेकिन वैक्सीन और कोरोना के चलते अधिकारी उसी काम में व्यस्त हैं।

नई व्यवस्था.. अब पेंडिग फाइलों पर किया जाएगा कलर

एमपी नगर एसडीएम ने पेंडिंग मामलों की फाइल पर कलर की व्यवस्था की है। तहसीलदार मनीष शर्मा ने बताया कि जो मामले एक साल व अधिक से पेंडिंग है उन पर लाल, तीन से 10 महीने के लिए पीला और तीन महीने से कम अवधि के पेंडिंग मामालों के लिए हरे रंग से कलरिंग की गई है, ताकि इनका जल्द से जल्द निपटारा किया जा सके।

एसडीएम से कहा गया है- जल्द निपटाएं केस

राजस्व का स्टाफ कोरोना नियंत्रण में व्यस्त रहा है। सभी को पेंडिंग मामलों के निराकरण के लिए निर्देश दे दिए गए हैं। लगातार इसकी समीक्षा हो रही है। अनेक मामलों की पेंडेंसी समाप्त भी हो गई है। संबंधित एसडीएम को भी कहा गया है कि वे जल्द से जल्द लंबित मामलों की संख्या कम करें। -अविनाश लवानिया, कलेक्टर

खबरें और भी हैं...