पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 7 Year Old Servant Broke Trust For Online Game, 7 Lakh Jewelery Stolen In One And A Half Month

पुलिस कार्रवाई:ऑनलाइन गेम के लिए 7 साल पुराने नौकर ने तोड़ा भरोसा, डेढ़ महीने में चुराए 7 लाख के जेवर

भोपाल19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी की निशानदेही पर अवधपुरी पुलिस ने 14 तोला सोने के जेवर जब्त कर लिए हैं। इसकी कीमत सात लाख रुपए आंकी गई है। पुलिस फिलहाल उससे पूछताछ कर रही है। - Dainik Bhaskar
आरोपी की निशानदेही पर अवधपुरी पुलिस ने 14 तोला सोने के जेवर जब्त कर लिए हैं। इसकी कीमत सात लाख रुपए आंकी गई है। पुलिस फिलहाल उससे पूछताछ कर रही है।
  • पुलिस ने आरोपी से जब्त किए 14 तोला सोने के जेवर
  • घर से अचानक गायब हुए नौकर को पुलिस ने बैतूल से पकड़ा

बायो प्लांट के फील्ड वर्कर के घर पर सात साल पुराने भरोसेमंद नौकर ने सात लाख रुपए के जेवर चुरा लिए। उसने ये जेवर घर पर रखी चाबी से अलमारी खोलकर डेढ़ महीने में चुराए। अवधपुरी पुलिस ने जब उसे पकड़ा तो खुलासा हुआ कि ये चोरी उसने ऑनलाइन गेम खेलने के मकसद से की थी। उसे इस गेम की लत है, जिसे खाते में पैसा होने पर ही खेला जा सकता था। इसी प्लान से उसने अपने मालिक का सात साल पुराना भरोसा तोड़ दिया और वारदात को अंजाम दिया।

थाना प्रभारी विजय त्रिपाठी के मुताबिक ये वारदात पलक विहार कॉलोनी फेस-1 में रहने वाले दिलीप दांदरे के घर हुई थी। दिलीप एक बायो प्लांट में फील्ड वर्कर हैं और एक नर्सरी भी चलाते हैं। उनकी पत्नी एक निजी अस्पताल में काम करती हैं। घर की अलमारी से सोने के जेवर और 30 हजार रुपए चोरी होने की शिकायत दिलीप ने दो दिन पहले की थी। ताला न टूटने के कारण पुलिस का पहला शक उनके नौकर कपिल उर्फ रूपेश नागले पर गया। बैतूल निवासी 24 वर्षीय रूपेश अचानक अपने गांव भी चला गया था। इस शक पर पुलिस उसके गांव सावलीगढ़ पहुंच गई और रूपेश को हिरासत में ले लिया। कुछ देर गुमराह करने के बाद उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

आरोपी को पता था कि कहां रखी रहती है चाबी

इतने साल में उसने दांदरे परिवार का भरोसा जीत लिया था। इसलिए उसे पता था कि जिस अलमारी में जेवर रखे हैं, उसकी चाबी कहां रखी जाती है। जब दांदरे दंपति घर पर नहीं होता था, तभी वह चाबी से अलमारी खोलकर एक-दो जेवर चुरा लेता था। डेढ़ महीने तक ऐसा करने के बाद वह अचानक अपने गांव चला गया। उसने पुलिस को बताया कि उसे ऑनलाइन गेम खेलने की आदत है। इसके लिए खेलने वाले के बैंक खाते में रकम होना जरूरी होता है। इसी का इंतजाम करने के मकसद से उसने ये जेवर चुराए थे।

खबरें और भी हैं...